पत्रकार राजेश मिश्रा हत्याकांड: मुख्य संदिग्धों में शामिल राजू यादव के घर कुर्की - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

पत्रकार राजेश मिश्रा हत्याकांड: मुख्य संदिग्धों में शामिल राजू यादव के घर कुर्की

गाजीपुर। आरएसएस कार्यकर्ता एवं पत्रकार राजेश मिश्र की हत्या के मामले में मुख्य संदिग्धों में शामिल शातिर बदमाश राजू यादव के घर पुलिस ने शुक्रवार की शाम कुर्की की कार्रवाई की। रजनीश उर्फ राजू यादव करंडा थाने के मटखन्ना गांव का रहने वाला है। कुर्की की कार्रवाई की अगुवाई सीओ सिटी हृदयानंद सिंह ने की। इसके लिए करंडा समेत आसपास के कई थानों की पुलिस फोर्स को भी मौके पर बुलाया गया था। कुर्की की कार्रवाई के वक्त राजू के परिवार का कोई सदस्य घर में मौजूद नहीं था। 

संभवतः उन्हें पहले से ही इस कार्रवाई का अंदाजा था। लिहाजा घर में ऐसा कोई कीमती सामान नहीं मिला। कुर्की में पुलिस के हाथ दरवाजे-खिड़की ही लगे। सीओ सिटी ने बताया कि राजू यादव के घर कुर्की की कार्रवाई उसके खिलाफ पहले से दर्ज मामलों में हुई। माना जा रहा है कि पत्रकार राजेश मिश्र की हत्या के बाद संदेह के घेरे मे आए राजू यादव पर शिकंजा कसने के लिए पुलिस ने उसके घर कुर्की की कार्रवाई की है। 

मालूम हो कि पत्रकार राजेश मिश्र तथा उनके छोटे भाई अमितेश मिश्र पर बीते 21 अक्टूबर की सुबह बदमाशों ने गोलियां दागी थी जब वह ब्राह्णपुरा चट्टी स्थित अपनी निर्माण सामग्री की दुकान में बैठे थे। लहूलुहान दोनों भाइयों को जिला अस्पताल पहुंचाया गया था। जहां चिकित्सकों ने राजेश मिश्र को मृत घोषित कर दिया था जबकि छोटे भाई अमितेश को वाराणसी के लिए रेफर कर दिया था। इसी क्रम में पुलिस कप्तान सोमेन बर्मा ने एसओ करंडा अशोक कुमार वर्मा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। 

सुबह करीब दस बजे स्वाभिमान संगठन तथा पूर्वांचल युवा मोर्चा की अगुवाई में राजेश मिश्र के गांव ब्राह्णमपुरा की चट्टी पर ग्रामीणों ने रास्ता जाम कर दिया था। उसमें राजेश मिश्र के बड़े भाई ब्रजेश मिश्र भी शामिल थे। उनका कहना था कि राजेश मिश्र पर हमले के बाद करंडा पुलिस को तत्काल सूचना दी गई लेकिन एसओ करंडा मौके पर पहुंचने में घंटा भर लगा दिए थे। उससे हमलावरों को भागने का मौका मिल गया था। संभवतः पुलिस कप्तान ने ग्रामीणों की उस शिकायत को गंभीरता से लिया और एसओ करंडा पद से अशोक कुमार वर्मा को निलंबित कर दिया। उनकी जगह त्रिवेणी लाल सेन को भेजा गया है। 

हालांकि पुलिस कप्तान ने खुद कासिमाबाद एसओ रहे त्रिवेणीलाल सेन को खानपुर के लिए स्थानांतरित किया था और खानपुर एसओ हिमेंद्र सिंह को कासिमाबाद भेजा था लेकिन करंडा एसओ अशोक कुमार वर्मा के निलंबन की कार्रवाई के बाद पुलिस कप्तान ने तबादले के आदेश में संशोधन करते हुए श्री सेन को खानपुर के बजाय करंडा भेजने का फैसला किया और खानपुर में मरदह एसएचओ रामकिशुन प्रसाद की तैनाती की है। श्री प्रसाद की जगह मरदह एसओ की जिम्मेदारी पुलिस लाइन में रहे अरुण राय को सौंपी गई है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad