गाजीपुर: किसानों को सम्मान देने वाला दिन है किसान दिवस- के बालाजी - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: किसानों को सम्मान देने वाला दिन है किसान दिवस- के बालाजी

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर चौधरी चरण  सिंह के जन्म दिवस पर कृषि विभाग द्वारा उप शोध केन्द्र बड़ीबाग के परिसर में किसान सम्मान दिवस  एंव किसान मेला, कृषक ऋण मोचन प्रमाण पत्र वितरण समारोह  का उद्घाटन जिलाधिकारी के.बालाजी द्वारा फीता काट कर किया गया। जिलाधिकारी  एवं मुख्य अतिथि भानु प्रताप सिंह जिलाध्यक्ष भाजपा  द्वारा चौधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर मेले का शुभारम्भ किया गयां।

तद्पश्चात पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के प्रतिमा पर माननीयो द्वारा माल्यार्पण किया गया। जिलाधिकारी एवं मुख्य अतिथि द्वारा विभिन्न विभागो जिसमें कृषि विभाग, उद्यान विभाग, गन्ना विभाग, रेशम विभाग, पशुपालन, दुग्ध विभाग तथा विभिन्न कम्पनियो के (उर्वरक, माइक्रोन्युट्रियन्ट एवं बीज) कुल 25 स्टालो का अवलोकन  किया गया। किसान सम्मान दिवस के अवसर पर जनपद के कृषको को जनपद के सर्वोच्च उत्पादन के लिए धान, गेहूं, सरसो, उद्यान, पशु पालन एवं दुग्ध विभाग के कुल 30 कृषको को प्रथम पुरस्कार रू0 7000 एवं द्वितीय पुरस्कार रू0. 5000 का आरटीजीएस के माध्यम से दिया गया। 

पुरस्कार वितरण के पश्चात सदर तहसील के 300 कृषकों को ऋण मोचन योजनान्तर्गत प्रमाण पत्र वितरित किया गया। जिलाधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि  किसान सम्मान दिवस जो किसानो को सम्मान देने वाला दिन है। हमारे जनपद में जो भी किसान है जो गेहॅू, सब्जी, उपज करते है उन्हे दूर-दूर तक भेजा जाता है। जिन किसानो द्वारा दैनीय स्थिति में भी  उत्कृष्ठ कार्य किये है आज उनको सम्मानित करने का समय है। उन्होने किसानो की हर समस्या को प्राथमिकता के आधार पर सम्बन्धित अधिकारियों को निस्तारण करने को निर्देश दिया। मुख्य अतिथि ने कहा कि चौधरी चरण सिंह किसानो के विकास के लिए निरन्तर प्रयत्नशील थे। गाजीपुर जनपद किसानो और जवानो के लिए जाना जाता है। 

किसान जो अपना पूरा जीवन किसानी में लगे रहते है, वो नयी तकनीक जैविक उर्वरको भूमि, परीक्षण, कराते हुए उन्नतशील वीजो का प्रयोग करे जिससे दुगनी फसल की पैदावार हो जिससे किसान लाभान्वित हो सके। उक्त मेले में वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. डीके सिंह, डा. विनोद सिंह, डा. सीपी सिंह एवं डा. दिनेश सिंह द्वारा वैज्ञानिक सत्र चलाकर कृषको उन्नत कृषि तकनीकी जानकारी दे कर अधिक उत्पादन के लिए प्रेरित किया गया। साथ ही फसल अपशिष्टो को जलाने से हानि एवं लाभ के बारे में बताया गया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad