गाजीपुर: अनशन पर बैठी आनंगबाड़ी कार्यकत्री की हालत बिगड़ी, कार्यकत्रियों ने सीडीपीओ कार्यालय का किया घेरा - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: अनशन पर बैठी आनंगबाड़ी कार्यकत्री की हालत बिगड़ी, कार्यकत्रियों ने सीडीपीओ कार्यालय का किया घेरा

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ का क्रमिक अनशन छठवें दिन तथा धरना 51 दिन से अनवरत जारी है। लेकिन प्रदेश सरकार की कौन कहे जिला प्रशासन भी सोया पड़ा है। उनके साथ आईसीडीएस विभाग पूरी तरह गैर-जिम्मेदाराना अंदाज में अनदेखा कर रहा है। 

जिसका परिणाम आज सामने आया। आज भदौरा ब्लाक का क्रमिक अनशन था, अनशन पर भदौरा ब्लाक अध्यक्ष कमला यादव, तहसील अध्यक्ष पाना देवी, मीना देवी, शशि कला गुप्ता, बेबी सिंह, अनीता रावत, सुशीला देवी, मीरा यादव, शोभा देवी, उषा गुप्ता, चंचल श्रीवास्तव, नीतू सिंह, मंजू देवी, सफेदा देवी सहित 14 कार्यकत्रियाँ अनशन पर बैठी थी। अभी कार्यक्रम चल ही रहा था कि अचानक अनशन पर बैठी अनीता रावत बेहोश हो गई। इसे देख कार्यकत्रियाँ आईसीडीएस की आज हो रही मीटिंग में जाकर वहां पर बैठे सीडीपीओ प्रशांत सिंह को सूचना दी, लेकिन उनके द्वारा इस विषय पर कोई नोटिस नहीं लिया गया। 

जिससे कार्यकत्रियाँ आक्रोशित होकर मीटिंग हाल में प्रवेश कर गई तथा सीडीपीओ के विरुद्ध नारे लगाने लगी। तभी आनन फानन में डीपीओ गाजीपुर आर एन मोर्य आ गए और उन्होंने तत्काल एंबुलेंस मंगवाकर उस कार्यकत्री को जिला अस्पताल पहुंचवाया। उस कार्यकत्री को लेकर स्वयं जिला अध्यक्ष चंद्रप्रभा सिंह, महामंत्री डॉ माया सिंह और ब्लॉक अध्यक्ष भदौरा कमला यादव अस्पताल पहुंची। 

समाचार लिखे जाने तक कार्यकत्री अनीता रावत पुत्री सहगू रावत, बहुआरा दिलदारनगर को ग्लूकोज चढ़ रहा था। जिला अध्यक्ष चंद्रप्रभा सिंह ने अपने विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों का गैर जिम्मेदाराना रवैये को लेकर कहा कि अनुशासन की बात करने वाले अधिकारी खुद अनुशासन में रहें अन्यथा हम आंगनवाड़ी महिलाएं परिणाम की चिंता नहीं करती हैं, तत्काल इलाज करा देती हैं। 

जिला कार्यक्रम अधिकारी ने पदाधिकारियों को यह आश्वासन दिया कि जब तक आप का अनशन चलेगा मैं जिम्मेदार कर्मचारी को वहां पर उपस्थित रहने की व्यवस्था कर दूंगा। जिला महामंत्री डा0 माया सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन हमारे अनशन को नोटिस नहीं लिया जिसका परिणाम सामने है। 

अगर इसी तरह चलता रहा तो यह क्रमिक अनशन आमरण अनशन में तब्दील हो जाएगा जिसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी। इस धरने में सदर से लाची कुशवाहा, प्रेमलता राय, निर्मला गुप्ता, नीतू, सावित्री देवी, अनीशा, सोनी सहित सैकड़ों कार्यकत्रियाँ उपस्थित रहीं।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad