गाजीपुर: आंगनबाडी कार्यकत्रियां बैकफुट पर - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: आंगनबाडी कार्यकत्रियां बैकफुट पर

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ गाजीपुर की कार्यक्रतियों, सहायिकाओं का धरना सांकेतिक रूप से शुरू हो गया। विकास भवन पर जुटी कार्यकत्रियो को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष चंद्रप्रभा सिंह ने कहा कि हम प्रदेश नेतृत्व के आवाहन पर 22 अक्टूबर से लगातार धरनारत है जिसका परिणाम रहा कि हमारी लड़ाई को देखकर मुख्यमंत्री द्वारा हमारा बकाया पूरक बजट 100 करोड़ रुपया मिल गया, लेकिन 15000 मानदेय के लिए हम लड़ रहे हैं, यह उन्हें पता है। हम काम पर वापस जा रहे हैं। धरना समाप्त नहीं किए हैं। धरना का प्रारुप बदले है। जिले की कार्यकत्रियाँ सहायिकाये काली पट्टी बांधकर अपना विरोध प्रकट करती रहेंगी। इस धरने को तब्दील करने का भी आदेश प्रदेश नेतृत्व द्वारा लिया गया है। 

आज मंडल अध्यक्ष शीला तिवारी की अध्यक्षता में हमारा धरना का प्रारूप बदल गया। जिसकी सहमति मंडल अध्यक्ष द्वारा दी गई। मंडल संरक्षक जेसी तिवारी ने कहा कि गाजीपुर जनपद की कार्यकत्रियां वीर अब्दुल हमीद की धरती की है उनके पराक्रम के आगे सरकार को झुकना पड़ेगा। हमारे यहां आंदोलन समाप्त नहीं हुआ है हमने इस का प्रारूप बदला है। प्रदेश अध्यक्ष गिरीश पांडे उच्च न्यायालय लखनऊ पहुंच चुके हैं जिसमें न्यायालय के आदेश पर हमने प्रारूप बदला है। कोर्ट द्वारा 8 जनवरी की तारीख मुकर्रर की गई है और कहा है कि तब तक आप लोग अपने केंद्र का संचालन करें। 

8 जनवरी के बाद अब निर्णय लिया जाएगा, तब तक हम काली पट्टी बांधकर अपना सांकेतिक प्रदर्शन जारी रखेंगे। जिला संरक्षक अमरनाथ दुबे ने जनपद की कार्यकत्रियों को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोगों को हतोत्साहित होने की जरूरत नहीं है। हमारा धरना समाप्त नहीं हुआ है। हम अपने धरने का प्रारूप बदल दिए हैं और मैं यह विश्वास दिलाता हूं कि जब तक हम 15000 रुपये मानदेय पा नहीं जाते, तब तक हमारा संघर्ष चलता रहेगा। हम काली पट्टी बांधकर अपना विरोध जारी रखेंगे, परिणाम पाने तक। 

महामंत्री डॉ0माया सिंह ने कहा कि इस सरकार पर से हमारा भरोसा उठ गया है यह सरकार बहरी हो चुकी है। जिसका परिणाम कल विधान परिषद में देखा गया। जिला मीडिया प्रभारी एडवोकेट राजेश कुमार ने कहा कि महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की कार्यकत्रियाँ विचलित ना हो अगर उनका एक दिन का भी मानदेय कटा तो हम दुबारा सड़क पर उतर जायेंगे। 

कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित करने वाले यह चेत जाएं वरना परिणाम भयानक होगा। धरने का संचालन शहर संरक्षक सतीश गुप्ता ने किया एवं ब्लाक अध्यक्षो में लाची कुशवाहा, निर्मला सिंह, जिला महासचिव आशा जायसवाल, हीरा यादव, सीता सिंह, उषा वर्मा,कमला यादव, नीता सिंह, संगीता सिंह, माया राय, ममता अधिकारी, शीला चौहान, संगीता सिंह, रुबीना बेगम ने अपने-अपने ब्लॉक का संचालन किया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad