गाजीपुर: ओमप्रकाश राजभर अपनी ही सहयोगी भाजपा के खिलाफ खूब किए थे हांफ-हूंफ पर नतीजा टांय-टांय फिस - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: ओमप्रकाश राजभर अपनी ही सहयोगी भाजपा के खिलाफ खूब किए थे हांफ-हूंफ पर नतीजा टांय-टांय फिस

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर अपनी ही सहयोगी भाजपा को हर मौके पर ललकारने वाले भासपा अध्यक्ष एवं कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर नगर निकाय चुनाव में टांय-टांय फिस हो गए। वह भाजपा के ही खिलाफ गाजीपुर के सादात तथा बहादुरगंज में चेयरमैन पद पर अपना उम्मीदवार उतार दिए थे। यही नहीं बल्कि उनके लिए चुनावी सभा तक किए थे लेकिन उनके उम्मीदवार अपनी जमानत तक नहीं बचा पाए।

सादात नगर पंचायत
निर्वतमान चेयरमैन प्रमिला यादव पत्नी राजनाथ यादव(भाजपा) दो हजार 231 वोट लेकर निर्वाचित घोषित हुईं। उनकी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा की सुमन यादव पत्नी सत्येंद्र दो हजार 35 वोट पर ही सिमट गए। भासपा उम्मीदवार यशवंत एक हजार 467 वोट के साथ तीसरे स्थान पर रहे। बसपा के पूर्व चेयरमैन श्यामनारायण राजभर के खाते में मात्र 358 वोट आए। कांग्रेस के सुभाष चंद्र 37, रालोद के सुभाष 27 सहित निर्दल सुजीत 151, फूलमति पत्नी श्यामबिहारी 16 वोट पाईं। कुल नौ हजार 252 में छह हजार 510 वोट पड़े थे। उनमें 185 अवैध हो गए। तीन वोट नोटा पर पड़े।

बहादुरगंज नगर पंचायत
बसपा के निर्वतमान चेयरमैन रेयाज अंसारी ने फिर अपना जलवा दिखाया। उनकी पत्नी निकहत परवीन तीन हजार 862 वोट लेकर विजयी घोषित हुईं। उनकी निकटतम प्रतिद्वंद्वी भासपा की अमैना बेगम पत्नी अब्दुला को दो हजार 381 वोट मिले। भाजपा समर्थित सोनी पत्नी अरविंद प्रजापति दो हजार 79, सपा की तसरीफुन निशा पत्नी मुहम्मद जकरिया 553, आरती सोनी पत्नी राधामोहन 46 वोट बटोरीं। कुल 14 हजार 27 में नौ हजार 184 वोट पड़े थे। उनमें 247 अवैध हो गए। नोटा पर 16 वोट गए।    

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad