गाजीपुर: अधिकार के साथ कर्तव्य को भी जाने नागरिक- केपी सिंह - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: अधिकार के साथ कर्तव्य को भी जाने नागरिक- केपी सिंह

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर सनबीम स्कूल महाराजगंज, गाजीपुर में 69वें गणतंत्र दिवस समारोह का भव्य आयोजन किया गया। इस अवसर पर विद्यालय के डायरेक्टर श्री के.पी. सिंह, श्री नवीन सिंह, श्री प्रवीण सिंह व  विद्यालय की सीनियर को-आर्डिनेटर श्रीमती अर्चना तिवारी तथा विद्यालय के समस्त अध्यापकगण, विद्यार्थी एवं कर्मचारीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारम्भ श्री के. पी. सिंह द्वारा ध्वजारोहण से हुआ। इसके उपरांत राष्ट्रगान से सारा वातावरण गूँज उठा।कार्यक्रम का संचालन श्री प्रताप चन्द्र द्वारा प्रस्तुत किया गया।  

तत्पश्चात् श्री जे.बी .गुप्ता द्वारा भाषण प्रस्तुत किया गया। उसके बाद कक्षा 5(बी) की छात्रा नूर सबा द्वारा इंग्लिश में भाषण प्रस्तुत किया गया। तत्पश्चात् विद्यालय के डायरेक्टर तथा समारोह के मुख्य अतिथि श्री के. पी. सिंह जी ने अपने विचारपूर्ण भाषण से उपस्थित सभी जनसमूह को राष्ट्र के प्रति अपने कत्र्तव्य का पालन करने के लिये प्रेरित किया। उन्होंने कहा छब्बीस जनवरी 1950 को हमारे गणतंत्र का जन्म हुआ। इस दिन हमने स्वयं भारत का संविधान दिया। इस विशाल लोकतंत्र की स्थापना के लिये न जाने कितने वीरों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी तथा उपनिवेशवाद पर विजय प्राप्त की। 

उन्होंने राष्ट्रीय एकता, जो हमें यहाँ तक लेकर आई है, के निर्माण के लिए भारत की विस्मयकारी अनेकता को सूत्रबद्ध कर दिया। उनके द्वारा एक उदीयमान शक्ति है, एक ऐसा देश है, जो विज्ञान, प्रौद्यौगिकी, नवान्वेषण और स्टार्ट-अप में विश्व अग्रणी के रूप में तेजी से उभर रहा है और जिसकी आर्थिक सफलता विश्व के लिए कौतूहल है। मुख्य अतिथि के भाषण के उपरांत विद्यालय के बच्चों द्वारा सामूहिक गीत प्रस्तुत किया गया। इसके पश्चात् कक्षा 6(सी) की छात्रा अंशिका राय द्वारा हिन्दी में भाषण प्रस्तुत किया गया।जिसमें उन्होंने भारत की पुरानी सभ्यता और संस्कृति की प्रशंसा की और युवाओं को प्रेरित किया कि पाश्चात्य संस्कृति को अपनाये, परन्तु अपने संस्कारों को हमेशा अपने हृदय में स्थान दें और राष्ट्र की एकता और अखण्डता को बनाये रखने में अपना योगदान दें।  

तत्पश्चात् विद्यालय के छात्र अंकित और छात्रा आरती द्वारा देशभक्ति  नृत्य प्रस्तुत किया गया। विद्यालय की प्रधानाचार्य ने अपने सन्देश में अपने देश की युवा पीढ़ी को राष्ट्र के प्रति अपने दायित्व को निरंतर याद रखने का संकल्प दिया। उन्होंने विद्यार्थियों को यह बताया कि कैसे हम युवा देश के प्रगति में सहायक सिद्ध हो सकते हैं। अंत में कार्यक्रम का समापन ‘हम होंगे कामयाब‘ गीत से सम्पन्न हुआ।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad