आने वाले दिनों में गाजीपुर बनेगा इंपोर्ट-एक्सपोर्ट का सेंटर: गडकरी - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

आने वाले दिनों में गाजीपुर बनेगा इंपोर्ट-एक्सपोर्ट का सेंटर: गडकरी

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर केंद्रीय सड़क एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी गुरुवार को गाजीपुर को कई बड़ी सौगात दे गए। साथ ही उन्होंने दावा किया कि आने वाले दिनों में गाजीपुर इंपोर्ट-एक्पोर्ट का केंद्र बनेगा। उसके बाद गाजीपुर के लाखों नौजवानों के लिए रोजगार के अवसर बनेंगे। लंका मैदान में करीब आठ हजार करोड़ की परियोजनाओं के शिलान्यास के बाद वह मौजूद जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। 

बोले-हम सिर्फ सपने नहीं दिखाते हैं। हम इन सपनों को पूरा कर के दिखाएंगे। थल और जल परिवहन के जरिये गाजीपुर पूरे देश से सीधे जुड़ेगा। राष्ट्रीय जल मार्ग परियोजना के पहले चरण में गाजीपुर के डुंगरपुर में बनने वाले इंटरमोडल टर्मिनल पर गंगा के रास्ते मालवाहक सहित फाइव एवं सेवन स्टार क्रूज तक आएंगे। 

फिर गाजीपुर में सी प्लेन की भी सेवा शुरू होगी। वह खुद इंटरमोडल टर्मिनल के उद्घाटन के लिए सी प्लेन से आएंगे। बताए कि भविष्य में गंगा में राष्ट्रीय जल मार्ग परियोजना को हलदिया से बढ़ा कर म्यामार तक पहुंचाया जाएगा। तब गाजीपुर के किसान अपने उत्पाद वर्मा तक निर्यात कर सकेंगे। अपने करीब आधा घंटा के संक्षिप्त भाषण में श्री ग़डकरी ने कहा कि अब तक वह पूरे देश में आठ लाख करोंड़ की लागत से सड़क परियोजनाओं का काम किए हैं। उन कार्यों में पूरी पारदर्शिता रखी गई है। 

सड़कों का निर्माण इस तरह हो रहा है कि तीन पीढ़ियों तक उनमें गड्ढे नहीं बनेंगे। श्री गडकरी ने किसानों को सीख देते हुए कहा कि वह खेती का तरीका बदल कर ज्यादा मुनाफा कमाएं। पुआल और गन्ने के सीरे से एथेनॉल बनाएं। वह एथेनॉल वाहनों के लिए ईंधन का काम करेगा। इसी क्रम में मंच पर मौजूद रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि वह भी अपने ट्रेनों के इंजन में एथेनॉल का इस्तेमाल कर किराया में आधा कटौती कर सकते हैं। इसी क्रम में वह मंच साझा कर रहे प्रदेश के उपमुख्य मंत्री केशव प्रसाद मौर्य की ओर देखते हुए कहा कि वह भी ऐसी बसें लाएं जो सड़क के  साथ जल मार्ग पर भी चलें। 

कहे कि इस तरह की बस का इस्तेमाल महाराष्ट्र में शुरू हो चुका है। उसके पूर्व श्री गडकरी ने परियोनजाओं का रिमोट से शिलान्यास की औपचारिकता पूरी की। सभा के प्रारंभ में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने श्री गडकरी का बखान करते हुए कहा कि उन्होंने उत्तर प्रदेश खासकर इसके पूर्वांचल के विकास के लिए अपना हाथ खोल दिया है। संचार एवं रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने गाजीपुर सांसद की हैसियत से श्री ग़डकरी का स्वागत करते हुए कहा कि वह उनके आग्रह पर गाजीपुर के विकास के लिए कभी ना नहीं कहे। 

उन्होंने गाजीपुर के पानी में आर्सेनिक की चर्चा करते हुए कहा कि श्री गडकरी इसके लिए 102 डीप बोर वेल ट्यूबवेल दिए हैं लेकिन उनसे आग्रह है कि और 200 यह ट्यूवबेल गाजीपुर को दें। साथ ही अपेक्षा किए कि सड़कों के निर्माण में कोई कटौती नहीं होगी। बताए कि प्रदेश सरकार गंगा पार मलसा-ढ़ढ़नी-उतरौली मार्ग का नवनिर्माण कराएगी। अंत में भाजपा जिलाध्यक्ष ने अतिथियों का माल्यार्पण कर स्मृति चिन्ह भेंट किया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad