गाजीपुर: बच्चों के सच्चे पथप्रदर्शक है माता-पिता – विजय मिश्र - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: बच्चों के सच्चे पथप्रदर्शक है माता-पिता – विजय मिश्र

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर इतिहास साक्षी रहा है कि जीवन में जिसने भी अपने माता-पिता गुरु को आदर्श मानकर उनका सम्मान किया उसे बड़ा से बड़ा लक्ष्य हासिल करने में भी कभी कोई कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ा क्योंकि हमारी पुरातन गौरवशाली भारतीय संस्कृति में इन्हें ईश्वर के समकक्ष दर्जा दिया गया है। एक तरफ माता-पिता जहां बच्चे को जन्म देते हैं उन्हें उंगली पकड़कर चलना फिरना सिखाते हैं, वही दूसरी तरफ गुरु एक कुशल कुमार की तरह जीवन पर्यंत बालक के जीवन को गढ़ता है। 

वह एक सच्चे पथ प्रदर्शक के रुप में उसका मार्गदर्शन कर मुश्किल से मुश्किल परिस्थितियों में भी उसे जीवन जीने की संपूर्ण कला सिखाता है। उक्त विचार पूर्व मंत्री विजय कुमार मिश्र ने आज सदर विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ठाकुर जी राम लक्ष्मण जानकी महाविद्यालय इंटर कॉलेज बरहपुर  नंदगंज गाजीपुर के वार्षिकोत्सव एवं शिक्षण संस्थान के संस्थापक स्वर्गीय गोपाल सिंह जी के 10 वीं पुण्यतिथि के अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री विजय मिश्र ने मुख्य अतिथि के रुप में व्यक्त किए। समारोह में उपस्थित छात्र छात्राओं  से बातचीत करते हुए श्री मिश्र ने कहा की छात्र जीवन की सफलता का मूलमंत्र अनुशासन व कठिन श्रम पर निर्भर करता है। 

उन्होंने संस्थान के छात्र छात्राओं से अपने जीवन को दो हिस्सों में बांटते हुए पहले हिस्से में अपने छात्र जीवन को एक साधक के रूप में बिताने का सुझाव देते हुए  पढ़ाई लिखाई के मामले में उनसे कठोर श्रम करने का आवाहन किया, ताकि वे अपने जीवन के शेष हिस्से को सुखमय ढंग से व्यतीत कर सके इसके अतिरिक्त उन्होंने शिक्षण संस्थान के बच्चों से माता पिता गुरु एवं बृद्धजनों से मिलने वाले अनुभव की महत्ता पर चर्चा करते हुए कहा कि जीवन में जब भी इनमें से किसी एक के  साथ बैठने व इनसे कुछ सीखने का अवसर मिले तो इसे कदापि नहीं खोना चाहिए। क्योंकि वरिष्ठ जनों से मिलने वाला अनुभव हमारे जीवन की दशा और दिशा को बदल सकता है इसलिए हमें अपने से बड़ों का सदैव सम्मान करते हुए उनसे समय समय पर कुछ न कुछ अच्छी चीजें सीखती रहनी चाहिए इससे हमें अपने परिवार समाज व राष्ट्र की तरक्की के लिए बहुत कुछ अच्छा व अच्छे ढंग से करने की प्रेरणा मिलती है। 

संबोधन के पूर्व श्री मिश्र ने शिक्षण संस्थान के संस्थापक स्वर्गीय गोपाल सिंह जी के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि व्यक्त की एवं इस अवसर पर महाविद्यालय के छात्र छात्राओं द्वारा प्रस्तुत रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनंद उठाया अंत में श्री मिश्र ने सीमित संसाधनों के बावजूद ग्रामीण क्षेत्र में महाविद्यालय खोलकर बालिका शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहे। इस शिक्षण संस्थान के संस्थापक के प्रति आभार प्रकट करते हुए उनके सपनों को साकार करने में लगे हुए। विद्यालय प्रबंध तंत्र अध्यापक वृंद एवं समस्त सहयोगियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। 

इस अवसर पर कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर बालेश्वर सिंह, प्रबंधक मोती सिंह जी, प्रधानाचार्य त्रिभुवन नाथ सिंह, सुरेंद्र यादव , किशोर यादव, पिंटू राय , राकेश सिंह सिंह, मुन्ना चौबे, डॉक्टर शंकर गुप्ता, सदानंद कनौजिया पूर्व प्रधान, हरिनाथ सिंह, लव-कुश मद्धेशिया, संदीप श्रीवास्तव गुड्डू यादव प्रधान, राम विजय यादव, वीरेंद्र यादव, कन्हैया प्रजापति, मनोज पांडे , अनु पांडे समारोह का संचालन विजय यादव ने किया एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता राम युग सिंह जी ने किया ।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad