गाजीपुर: फोर लेन निर्माण में घोटाला, करोड़ों में गटके मुआवजे की रकम - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: फोर लेन निर्माण में घोटाला, करोड़ों में गटके मुआवजे की रकम

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर वाराणसी-गोरखपुर हाइवे को फोर लेन बनाने में करोड़ों के घोटाले का मामला सामने आया है। यह घोटाला मुआवजे के भुगतान में हुआ है। सारा मामला प्रशासन के संज्ञान में है। बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। घोटाला योगी सरकार के गठन से पहले का है। ‘गाजीपुर न्यूज़ टीम को मिले साक्ष्य के मुताबिक घोटाले की कुल रकम करीब आठ करोड़ रुपये की है और यह खेल सैदपुर तथा सदर तहसील क्षेत्र में हुआ। इस मामले में तत्कालीन संबंधित अधिकारियों की भूमिका पूरी तरह संदिग्ध है। बताया तो यहां तक जा रहा है कि उन अधिकारियों ने गैर जिलों के रहने वाले अपने लोगों के जरिये यह सब कराया। 

ऐसे हुआ खेल
भूखंडों के मूल मालिकों की अज्ञानता का फायदा उठाया गया। फोर लेन के लिए जरूरत के भूखंड के अधिग्रहण की सूचना प्रकाशित होने के बाद तत्कालीन अधिकारियों ने अपने लोगों को लगाया। वह लोग अधिग्रहित भूखंडों की मुंहमागी कीमत देकर मूल मालिकों से बैनामा कराए। फिर अधिकारियों ने नियमों के विपरीत जाकर उन्हें मुआवजे की रकम का भुगतान करा दिया। बताते हैं कि उन अधिकारियों ने मुआवजे की रकम बढ़ाने के लिए सर्किल रेट भी बढ़ा कर तय किया।

यह है नियम
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण(एनएचएआई) के मुताबिक राष्ट्रीय राजमार्ग अधिनियम १९५६ के तहत धारा तीन ग के प्रकाशन के बाद अधिग्रहित भूमि की बेच-खरीद नहीं हो सकती और न प्रतिकर का भुगतान हो सकता है। यही नहीं बल्कि दो दिन पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी एक मामले में स्पष्ट किया है कि अधिग्रहित भूमि का बैनामा नहीं हो सकता और न बैनामा कराने वाला मुआवजे का ही हकदार होगा।

नीलम मंगेले पर ज्यादा ही मेहरबानी 
मुआवजे की रकम हड़पने वालों की सूची पर गौर किया जाए तो एक नाम चौंकाता है। यह नाम है जिला झांसी की सदर तहसील के अदियांव गांव की रहने वाली महिला नीलम गंगेले पुत्र आशा राम गंगेले का। इनके नाम सैदपुर तहसील के महमूदपुर पाली, बासुपुर तथा सदर स्थित अरशदपुर को मिला कर कुल करीब एक करोड़ 33 लाख रुपये के मुआवजे की रकम का भुगतान किया गया। 

इसी तरह हरिओम अलाउद्दीनपुर तहसील सगड़ी जिला आजमगढ़ ने सैदपुर तहसील के महमूदपुर पाली व कुंवरपुर में करीब दो करोड़ साढ़े 26 लाख रुपये की मुआवजे की रकम हथियाई। पुष्पा मिश्रा पत्नी अशोक कुमार संत गोपालनगर परिया बजरडीहा वाराणसी ने महमूदपुर पाली में एक करोड़ 20 लाख रुपये की मुआवजे की राशि प्राप्त की। वेद प्रकाश पुत्र उमाशंकर मिशन कंपाउंड झांसी के बैंक खाते में कुंवरपुर के भूखंड के लिए करीब 33 लाख रुपये की रकम भेजी गई। 

उस्मानिया आसिया बानो आजमगढ़ अरशदपुर के भूखंड के लिए साढ़े दस लाख, अशोक कुमार पुत्र रामलाल निवासी बासुचक तहसील सैदपुर गाजीपुर को अरशदपुर के भूखंड के एवज में एक करोड़ साढ़े 77 लाख और इंदिरा नगर लखनऊ की माधुरी सिंह पत्नी कन्हैया लाल को अरशदपुर के भूखंड के मुआवजे के रूप में कुल करीब 89 लाख रुपये का भुगतान हुआ।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad