गाजीपुर: पिछड़ों और दलितों पर अत्याचार की कीमत चुकाएगी भाजपा सरकारः संतोष यादव - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: पिछड़ों और दलितों पर अत्याचार की कीमत चुकाएगी भाजपा सरकारः संतोष यादव

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर सैदपुर समाजवादी युवजन सभा के पूर्व राष्ट्रीय सचिव संतोष यादव ने कहा कि पिछड़ों, दलितों पर हो रहे बेतहाशा जुल्म की कीमत भाजपा को चुकानी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा के राज में पिछड़ों, दलितों के न सिर्फ हक छिने जा रहे हैं बल्कि उनके साथ अत्याचार भी हो रहा है। श्री यादव गुरुवार को खानपुर क्षेत्र के अहलादपुर गांव में दिवंगत पेंटर भिखारी यादव के परिवारीजनों से मिलने पहुंचे थे। 

उन्होंने कहा कि भिखारी यादव की मौत और उसके बाद के घटनाक्रम से सरकार का पिछड़ा तथा दलित विरोधी चेहरा सामने आया। भिखारी यादव की मौत पर हुई फौरी प्रतिक्रिया को लेकर अहलादपुर गांव के पिछड़ों के साथ प्रशासन का दमनकारी कृत्य कभी माफ नहीं किया जाएगा। उन्होंने पीड़ितों को आश्वस्त किया कि वह इस प्रकरण से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को अवगत कराएंगे। 

उनका कहना था कि खुद के खिलाफ पिछड़ों व दलितों की लामबंदी से जुल्मी भाजपा सरकार और बौखला गई है। श्री यादव ने अपनी ओर से भिखारी यादव के आश्रितों को 30 हजार रुपये की मदद भी दी। इस मौके पर उनके साथ यूथ ब्रिगेड के अध्यक्ष तहसीन अहमद, संस्था युवा शक्ति के अध्यक्ष सुनील यादव, मनीष यादव, जुगनू यादव, शमशाद अंसारी, लियाकत अली, कमलेश यादव, बॉबी चौधरी, पंकज यादव आदि भी थे। सपा में संतोष यादव पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बेहद करीब माने जाते हैं। 

मालूम हो कि बीते नौ मार्च की देर शाम बलेहरी गांव में एक बेकाबू कार भिखारी यादव की जान  ले ली थी जबकि उसके धक्के से तियरा के पूर्व प्रधान सुभाष यादव घायल हो गए थे। उसके बाद चालक मय कार उमा पब्लिक स्कूल में घुस गया था। वह कार स्कूल प्रबंधन की बताई गई थी। 

लिहाजा हादसे को लेकर ग्रामीणों में फौरी प्रतिक्रिया हुई। मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने स्कूल तथा उसके निदेशक रामगोपाल सिंह के घर में तोड़फोड़, आगजनी की थी। उस मामले में अहलादपुर के ग्रामप्रधान प्रतिनिधि समेत 13 नामजद व 150 अज्ञात के खिलाफ खानपुर थाना में बलवा व आगजनी का मुकदमा कायम किया गया। उधर, मृतक के चचेरे भाई की तहरीर पर कार चालक व दो अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। अहलादपुर के लोगों के अनुसार घटना के बाद पुलिस बेकसूरों को प्रताड़ित करना शुरू की।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad