गाजीपुर: दो प्रेमियों के हाथों बेटे की हत्या के बाद महिला ने मौके पर हटाए थे सबूत - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: दो प्रेमियों के हाथों बेटे की हत्या के बाद महिला ने मौके पर हटाए थे सबूत

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर गहमर थाने के सायर गांव में मासूम प्रवीण(8) पुत्र सुभाष यादव की हत्या की हर परत खुल गई है। यह मां-बेटे के अनमोल रिश्ते के कत्ल की कहानी है। इस कहानी में सबसे रोचक यह कि अहम किरदार प्रवीण की मां है जबकि हत्या को अंजाम उसकी मां के ही दो प्रेमी ने दिया। हत्या में हथियार उसी बल्ले को बनाया गया जिस बल्ले से मासूम प्रवीण खेलता था। हत्या गुरुवार की रात करीब 11 बजे हुई थी। पुलिस की शुरुआती जांच में ही प्रवीण की मां संतरा देवी मुख्य संदिग्ध बन गई थी। फिर तो हिरासत में लेकर हुई पूछताछ के बाद वह हत्या की पूरी कहानी उगल दी। 

उसके बाद पुलिस उसे और उसके दोनों प्रेमियों को गिरफ्तार कर ली। पुलिस कप्तान सोमेन बर्मा ने शनिवार की शाम दो बजे अपने ऑफिस में पुत्र हंता संतरा देवी सहित उसके दोनों प्रेमियों को मीडिया के सामने पेश किया। बताए कि संतरा देवी का मायका कर्मनाशा नदी पार बक्सर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र स्थित सौरी(डेहरी) में है। उसके दोनों प्रेमी बरमेंद्र कुमार यादव तथा जितेंद्र कुमार यादव उसी गांव के रहने वाले हैं। दोनों पहले से ही संतरा के घर आते-जाते थे। करीब छह से उनके बीच नाजायज रिश्ते बन गए थे। घटना की रात दोनों संतरा के घर पहुंचे थे। उस वक्त संतरा की साश तथा देवर भी घर में नहीं थे। 

उसी बीच अचानक प्रवीण की नींद टूट गई थी और वह अपनी मां को उनके साथ आपत्तिजनक दशा में देख लिया। फिर तो इस बात को छिपाने के लिए संतरा की सहमति से दोनों प्रेमियों ने प्रवीण का तत्काल काम तमाम करने का फैसला किया। पहले वह उसका गला घोंटने की कोशिश की। फिर वह पास में रखे बल्ले से उसके सिर पर जोरदार प्रहार कर उसे मौत की नींद सुला दिए। उसके बाद वह दोनों चले गए। तब संतरा अपनी ओर से मौके पर पसरे प्रवीण के खून सहित अन्य सबूत मिटाई। 

कुछ देर बाद रात में घर लौटे देवर सुनील यादव को संतरा ने प्रवीण की हत्या की जानकारी दी। बताई कि दो नकाबपोश आए और प्रवीण को मार कर चले गए। संतोष ने इसकी सूचना यूपी-100 को दी। एसएचओ गहमर बालमुकुंद मिश्र मय फोर्स मौके पर पहुंचे। पहली ही नजर में उन्हें संतरा के बताई कहानी पर शक हुआ। सुबह खुद पुलिस कप्तान भी मौके का जायजा लिए। 

उन्होंने भी मौके के हालात और संतरा देवी के बदलते बयान को पकड़ा। उसके बाद संतरा से थाना मुख्यालय में पूछताछ शुरू हुई। वह कुछ ही देर में टूट गई और पूरा घटनाक्रम बता गई। उस आधार पर पुलिस उसके दोनों प्रेमियों की तलाश में जुटी। वह बारा बस स्टैंड के पास पकड़े गए। संतरा की अपने ट्रक चालक पति सुभाष से अनबन चल रही थी। वह करीब ढाई साल से अपने इकलौते बेटे प्रवीण को लेकर मायका में ही रहती थी। प्रवीण वहीं कक्षा दो में पढ़ता था लेकिन बीते चार मई को मां-बेटे सायर गांव लौटे थे। पुलिस कप्तान ने बताया कि महिला के दोनों प्रेमियों में बरमेंद्र ट्रक चालक है जबकि दूसरा मैकेनिक है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad