गाजीपुर: ईनामिया बदमाश वाहिद अंसारी गिरफ्तार, दो दिन पहले लूट की कोशिश में बहरियाबाद में की थी हत्या - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: ईनामिया बदमाश वाहिद अंसारी गिरफ्तार, दो दिन पहले लूट की कोशिश में बहरियाबाद में की थी हत्या

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर खानपुर तथा सादात पुलिस और क्राइम ब्रांच की संयुक्त कार्रवाई में 20 हजार रुपये का ईनामी बदमाश वाहिद अंसारी पकड़ा गया। शनिवार की रात करीब पौने दो बजे जिला पुलिस मुख्यालय से महज कुछ दूरी पर यह कामयाबी मिली। वाहिद बहरियाबाद कस्बे का रहने वाला है। पुलिस कप्तान सोमेन बर्मा ने रविवार की दोपहर अपने ऑफिस में उसे मीडिया के सामने पेश किया। 

बताए कि इसी घटना के सिलसिले में क्राइम ब्रांच के अलावा एसएचओ सादात सुरेंद्र सिंह तथा एसएचओ खानपुर शैलेश सिंह यादव अपनी टीम के साथ शहर कोतवाली के महाराजगंज रेलवे क्रासिंग के पास मौजूद थे। उसी बीच मुखबिर से सूचना मिली कि खूंखार बदमाश वाहिद अंसारी अपने साथी पंकज दूबे के साथ कचहरी के रास्ते करंडा की ओर जाने वाला है। उसके बाद पुलिस टीम कलेक्ट्रेट और सिद्धेश्वरनगर के बीच स्थित मंदिर के पास पहुंच कर घेरेबंदी कर ली। तभी पंकज दूबे के साथ बाइक के पीछे बैठा वाहिद अंसारी आते दिखा। 

उन्हें रोकने का इशारा किया गया लेकिन वह बाइक पीछे घुमा कर भागने लगे। पुलिस टीम दौड़ाई तब वाहिद उतर कर पैदल भागने लगा लेकिन आखिर में उसे धर दबोचा गया जबकि मौका देख पंकज दूबे मय बाइक भाग निकला। वाहिद के कब्जे से मय कारतूस पिस्तौल सहित लूट की सोने का मंगलसूत्र, अंगूठी, चेन का टुकड़ा, चांदी की दो अंगूठी, दो मोबाइल फोन और तीन हजार 838 रुपये नकद बरामद हुए। 

पुलिस कप्तान ने बताया कि पूछताछ में वाहिद अपने जुर्म कबूलते हुए बताया कि बीते शुक्रवार की शाम सादात थाने के मिर्जापुर गांव की पानी टंकी के पास लूट की कोशिश में युवक सुनील राजभर की हत्या और उसकी चाची को गोली मारने की वारदात को वह अपने साथी दीपक यादव संग अंजाम दिया था। इतना ही नहीं उस घटना के बाद वह आजमगढ़ के तरवां थाना क्षेत्र में पहुंचे और उसी क्षेत्र के सरायभांटी गांव के राधे यादव की हत्या की कोशिश में उस पर कुल छह गोलियां दागे थे। 

उसके पहले पहली मई को सैदपुर कोतवाली के भीमापार में चालक को गोली मार कर बाइक लूटे थे। फिर 24 अप्रैल को अपने साथी पंकज दूबे व दीपक यादव के साथ बहरियाबाद क्षेत्र में सराफा दुकान को लूटा था। साथ ही बीते 23 फरवरी को सादात थाने के पचाई पट्टी मजार के पास युवक हरिवंश यादव पिंटू की हत्या में खुद की संलिप्तता की बात भी कबूला। 

पुलिस कप्तान के अनुसार वाहिद का कार्यक्षेत्र गाजीपुर के अलावा वाराणसी, गौतमबुद्ध नगर, आजमगढ़ रहा है। जहां के विभिन्न थानों में उसके खिलाफ हत्या, लूट, डकैती सहित कुल 26 मामले दर्ज हैं। वाहिद का साथी पंकज दूबे आजमगढ़ जिले के मेहनगर स्थित खरगपुर और दीपक यादव उसी थाने के मालपार गांव का है। पुलिस कप्तान ने बताया कि वाहिद की गिरफ्तारी पर आईजी वाराणसी दीपक रतन ने पुलिस टीम को अपनी ओर से 20 हजार रुपये नकद ईनाम देने की घोषणा की है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad