गाजीपुर: रिचार्ज को लेकर दलितो और राजपूतो में जमकर हुआ संघर्ष, लाठी-डण्डों के साथ हुई हवाई फायरिंग - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: रिचार्ज को लेकर दलितो और राजपूतो में जमकर हुआ संघर्ष, लाठी-डण्डों के साथ हुई हवाई फायरिंग

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर रेवतीपुर थाना क्षेत्र के नवली गांव में मंगलवार को दलित और राजपूतों में जमकर लाठी-डंडे और पत्थर बाजी व हवाई फायरिंग हो गयी जिसके चलते दर्जनो लोग घायल हो गये। डायल 100 व मौके पर भारी संख्या में पुलिस पहुंच गयी है। बुद्धवार को पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा भी घटना स्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन कर रहें है। 

घटना के संदर्भ में दो तथ्य आ रहें है। बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष रामप्रकाश गुड्डू ने बताया कि नवली इण्टर कालेज के सामने एक दलित युवक बबलू 20 वर्ष, राजू 25 वर्ष पुत्र जवाहर राम दोनो भाई गोमती में मोबाईल रिपेयरिंग व रिचार्ज का काम करता था। प्रधान के बेटे ने दोनो दुकानो पर पहले से बकाया लगा रखा था। घटना की दिन व रिचार्ज कराने पहुंचा जिसपर दोनो भाईयों ने कहा कि पहले पुराना भुगतान चुकता किजिए फिर रिचार्ज किया जायेगा। दोनो भाईयों के मूंह से यह बात सुनकर ग्राम प्रधान का पुत्र आग बबूला हो उठा और अपने साथियों के साथ राजू और बबलू की जमकर पिटाई कर दिया। इसके बाद दोनो भाईयों को उठाकर अपने राईश मील पर लेकर आये जहां पर उन दोनो को एक कमरे में बंद कर दिया। 

यह बात जब दलित बस्ती में पहुंची तो दलित समाज के लोग इकठ्ठा होकर मील पर पहुंचे और दोनो भाईयों को छुड़ाकर घर वापस ले आये। दूसरे पक्ष राजपूतो का कहना है कि नवली निवासी कपड़ा व्यवसायी मुहम्मद अख्तर का ट्रक दुर्घटना में मौत हो गया था। अख्तर के शव को ग्राम प्रधान लाल बहादूर सिंह अपनी पिकअप से पोस्ट मार्टम के लिए भेजवाये थे। इसके बाद पिकअप के धुलाई के लिए उन्होने गांव के दलित को बुलाने के लिए अपने पुत्र प्रदीप को भेजा। प्रदीप दलित बस्ती में पहुंचकर उक्त युवक को बुलाने लगा लेकिन दलित बस्ती के लोगो को प्रदीप के बुलाने का अंदाज नागवर लगा। उन्होने प्रदीप को सम्मानजनक भाषा में बात करने के लिए कहा। दलित युवको से प्रदीप सिंह की झड़प होने लगा और मारपीट शुरू हो गया। 

राजपूत पक्ष का कहना है कि दलितो ने प्रदीप की जमकर पिटाई कर दी। घायल प्रदीप सिंह घर पहुंचकर घटना की जानकारी दी तो परिजन दलित बस्ती पर धमक पड़ें। दलित बस्ती के लोग उन लोगो पर हमला बोल दिये। किसी तरह बचकर वहां से निकले। सूचना पाकर डायल 100 की गाड़ी पहुंची तो उसपर भी पथराव कर दिया गया। प्राप्त जानकरी के अनुसार इण्टर कालेज के सामने सभी गोमतियों को तोड़-फोड़ कर हटा दिया गया है। समाचार लिखे जाने तक घायलो को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है जिसमें एक पक्ष से प्रदीप सिंह 24, रमाशंकर सिंह 53, संतोष सिंह 34, रंजन सिंह 30, दिवाकर सिंह 25, अशोक सिंह 40 तथा दलित पक्ष से राजू, बबलू जिला चिकित्सालय में इलाज चल रहा है। 

घटना के संदर्भ में पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा ने बताया कि यह घटना पुरानी रंजिश को लेकर हुई है, लेकिन कल रिचार्ज को लेकर हुए विवाद में इस घटना को बड़ा रुप दे दिया है। एफआईआर दर्ज कर अभियुक्तो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। पूर्व पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि मैं कपड़ा व्यवसायी अख्तर व सुरेंद्र सिंह के यहां से शोक संवेदना व्यक्त करने गया था। वापस लौटते समय दोनों पक्षों में झगड़ा हो चुका था तबतक मैं वहां पहुंचा, मेरी गाडी़ को देखते ही दलितों ने मुझको रोका और घटना के बारे में बताया। तब मैं दोनों पक्षों को समझा-बुझा कर वापस घर भेजा। एसपी से वार्ता कर तत्काल पुलिस भेजने के लिए बात किया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad