गाजीपुर नवली कांडः दो देवियों का धरना, दो थानेदार लाइन हाजिर - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर नवली कांडः दो देवियों का धरना, दो थानेदार लाइन हाजिर

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर नवली कांड को लेकर सत्ताधारी दल की दो विधायकों अलका राय तथा सुनीता सिंह को बुधवार की शाम घटनास्थल नवली चट्टी पर धरना पर बैठने के बाद प्रशासन कुछ ज्यादी ही हरकत में आ गया। विधायकों का कहना था कि इस मामले में पुलिस ने एकतरफा कार्रवाई हुई है। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने सरासर एक पक्षीय कार्रवाई की है। बेकसूर ग्राम प्रधान लालबहादुर सिंह के घर तथा उनके घर से सटे मकानों में पुलिसा ने तोड़फोड़ कराई। यहां तक कि उनके परिवारों की महिलाओं के साथ बदलसूली की गई। लिहाजा पुलिस कर्मियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई हो। 

गिरफ्तार बेकसूर ग्राम प्रधान लालबहादुर सिंह को छोड़ा जाए। विधायक द्वय के धरना पर बैठने के बाद प्रशासन में खलबली मच गई। पुलिस कप्तान सोमेन बर्मा खुद मौके पर पहुंचे। उनकी सारी बात सुने। फिर उन लोगों के कहने पर विधायक अलका राय संग ग्राम प्रधान के घर में पुलिस ज्यादती को देखे। बकौल अलका राय प्रतिनिधि आनंद राय, एडीएम राजेश कुमार संग मौका मुवायना कर धरना स्थल पर लौटे पुलिस कप्तान ने कहा कि पूरे प्रकरण की मजिस्ट्रेट जांच कराई जाएगी। उसके बाद धरना खत्म हो गया। 

बाद में मौके से लौट रहे पुलिसा कप्तान ने साढ़े ११ बजे बताया कि एसएचओ दिलदानगर अखिलेश त्रिपाठी तथा रेवतीपुर रामबहादुर चौधरी को तत्काल प्रभाव से लाईन हाजिर कर दिया गया है। साथ ही जमानियां सीओ के प्रभार से डॉ.कृष्णकांत सरोज से वापस ले लिया गया है। प्रभारी डीएम हरिकेश चौरसिया ने कहा कि पुलिस की रिपोर्ट के बाद मजिस्ट्रेट जांच सहित आगे की कार्रवाई होगी। 

घटना के मामले में दोनों पक्षों के कुल पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उनमें नवली के ग्राम प्रधान लालबहादुर सिंह सहित दो और दूसरे पक्ष के तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एक सवाल पर पुलिस कप्तान ने इस बात को खारिज किया कि इस पूरे घटनाक्रम में तथाकथित भीम आर्मी का हाथ है। उनका कहना था कि लोकल मामूली विवाद को लेकर यह पूरा फसाद हुआ।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad