गाजीपुर भाजपाः काशी क्षेत्र की कमेटी में प्रदेश अध्यक्ष के गृह जिला गाजीपुर की बल्ले-बल्ले - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर भाजपाः काशी क्षेत्र की कमेटी में प्रदेश अध्यक्ष के गृह जिला गाजीपुर की बल्ले-बल्ले

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर भाजपा की काशी क्षेत्र की नई कार्यकारिणी की घोषणा बुधवार को हो गई। हालांकि पूरी कार्यकारिणी पर नजर डाली जाए तो पार्टी ने उसमें जिले तथा जातीय सुंतलन बनाने की कोशिश की है। ताकि उसकी सोशल इंजीनियरिंग का फार्मूला कायम रहे लेकिन कार्यसमिति में गाजीपुर को भी कम अहमियत नहीं मिली है। इसे पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय से जोड़ा जा रहा है। मालूम हो कि गाजीपुर उनका गृह जिला है। इस बात को बल इस लिए भी मिल रहा है कि कार्यकारिणी में जगह पाए गाजीपुर के नेताओं में कई डॉ.पांडेय के करीबियों में शुमार हैं। काशी क्षेत्र के अध्यक्ष महेशचंद्र श्रीवास्तव की ओर से जारी इस सूची में गाजीपुर के कृष्णबिहारी राय का उपाध्यक्ष पद बरकरार है। संभव है कि पार्टी ने उनकी मेहतन और लंबे संगठनात्मक अनुभव का ख्याल रखा हो। इनके अलावा सरोज कुशवाहा को मंत्री का पद सौंपा गया है। गाजीपुर के लिए यह पहली महिला नेता हैं जिन्हें काशी क्षेत्र का पदाधिकारी बनने का मौका मिला है। माना जा सकता है कि श्रीमती कुशवाहा को पदाधिकारियों की सूची में शामिल कर महिला के साथ ही पिछड़े का कोटा भी भरी है।

कार्यकारिणी के सदस्यों की सूची में गाजीपुर के कुंवर रमेश सिंह पप्पू का नाम है। वह प्रदेश अध्यक्ष के खास माने जाते हैं। जंगीपुर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी उन्हें दो बार चुनाव लड़ने का मौका दे चुकी है। पहली बार 2012 में उनको टिकट मिला। नामांकन के अंतिम दिन और ऐन वक्त पर उनका सिंबल लेकर हेलीकॉप्टर से खुद डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय गाजीपुर पहुंचे थे। उसके बाद जंगीपुर के विधायक तथा तत्कालीन सपा सरकार के मंत्री कैलाश यादव के निधन के बाद उप चुनाव हुआ। पार्टी ने दोबारा कुंवर रमेश सिंह पप्पू को मौका दी। तब उनके चुनाव अभियान में डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय काफी वक्त दिए थे। इसी तरह शादियाबाद इलाके के रहने वाले खरगू चौहान भी कार्यकारिणी के सदस्य बने हैं। वह पार्टी के पुराने नेता हैं और प्रदेश अध्यक्ष के करीब हैं। यही स्थित कार्यकारिणी के सदस्य बने बीके त्रिवेदी की है। 

अलबत्ता, शोभनाथ यादव को कार्यकारिणी का सदस्य बनाना पार्टी कार्यकर्ताओं को जरूर हैरान कर रहा है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि वह आयातित नेता हैं। पहले बसपा में रहे हैं। वह शिक्षा व्यवसाय से जुड़े हैं। एक बार उनके महाविद्यालय उंकरांव के छात्रों से मुंहमांगी फीस वसूलने की शिकायत मिलने पर डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय ने शोभनाथ यादव को फटकार भी लगाई थी लेकिन उसी बीच काशी क्षेत्र के तत्कालीन अध्यक्ष लक्ष्मण आचार्य ने फोन कर उन्हें अपना आदमी बता कर मामला खत्म करा दिया था। उसके कुछ ही दिन बाद शोभनाथ भाजपा में शामिल हुए थे। बहरहाल, गाजीपुर के लिए यह कोई पहला मौका नहीं है जब काशी क्षेत्र के पदाधिकारियों में एक साथ गाजीपुर के दो नेताओं को नामित किया गया है। काशी क्षेत्र के अध्यक्ष रहे लक्ष्मण आचार्य के काल में रामतेज पांडेय उपाध्यक्ष थे जबकि ब्रजेंद्र राय मंत्री बने थे। यह दोनों नेता भी डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय के बेहद करीब हैं। शायद यही वजह है कि रामतेज पांडेय मौजूदा वक्त में प्रदेश के मंत्री हैं और ब्रजेंद्र राय प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad