गाजीपुर: पूर्वोत्तर रेलवे का ट्रेनिंग सेंटर बन कर तैयार, स्टेशन मास्टरों के रिफ्रेशर कोर्स से होगी शुरुआत - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: पूर्वोत्तर रेलवे का ट्रेनिंग सेंटर बन कर तैयार, स्टेशन मास्टरों के रिफ्रेशर कोर्स से होगी शुरुआत

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर राजकीय अफीम कारखाना के पास पूर्वोत्तर रेलवे का ट्रेनिंग सेंटर बन कर तैयार हो चुका है। संचार एवं रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा 15 जुलाई को इसका लोकार्पण करेंगे। हालांकि सेंटर में 13 जुलाई से ही स्टेशन मास्टरों का रिफ्रेसर कोर्स शुरू हो जाएगा। कुल 50 स्टेशन मास्टर इसमें हिस्सेदारी करेंगे। सेंटर के निर्माण में करीब 14 करोड़ रुपये की लागत आई है। इसमें लोको पायलट, गार्ड, टिकट कलेक्टर, स्टेशन मास्टर, केबिनमैन, कांटावाला आदि का प्रशिक्षण होगा। इसके लिए सेंटर में दो मॉडल रूम हैं।  

उसमें परिचालन, संरक्षा, वाणिज्य, नागरिक सुरक्षा/चिकित्सा, सूचना प्रौद्यागिकी मॉडल बने हैं। साथ ही 14 क्लास रूम हैं। लाइब्रेरी है। कांफ्रेंसिंग हॉल भी है। इसके अलावा एक मल्टीहॉल है। साथ ही एक आईटी रूम है। महिला प्रशिक्षुओं को रहने के लिए टॉयलेट अटैच 23 कमरे हैं जबकि पुरुष प्रशिक्षार्थियों के लिए ऐसे ही 50 कमरों  की व्यवस्था है। इनमें 20 बन कर तैयार हो चुके हैं। एक प्रशिक्षु महिला एक कमरे में रहेंगी वहीं चार पुरुष एक कमरे में साथ रहेंगे। यह सेंटर पूरे देश में रेलवे के अत्याधुनिक ट्रेंनिंग सेंटरों में से एक है। प्रशिक्षुओं के भोजन-नाश्ता के लिए कैंटिन बनी है और मनोरंजन कक्ष भी है। उसमें इंडोर गेम, टीवी, जिम की भी सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

सेंटर में एक साथ 200 प्रशिक्षु प्रशिक्षम लेंगे। सेंटर के लिए प्रिंसिपल पद पर एके उपाध्याय की तैनाती हुई है। वाइस प्रिंसिपल हीरालाल तथा मुख्य अनुदेशक कमलेंद्र किशोर नियुक्त हुए हैं। वैसे अभी कैंपस में स्टाफ की व्यवस्था नहीं हुई है। मालूम हो कि इस सेंटर की नींव संचार एवं रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने मई 2015 में अपने हाथों रखी थी। रेल राज्यमंत्री बनने के बाद अपने संसदीय क्षेत्र गाजीपुर के लिए उनके हाथों यह पहला बड़े निर्माण कार्य का शिलान्यास था।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad