गाजीपुर: फोन में व्यस्त चालक ने सांसत में डाल दी मासूमों की जान, सादात इलाके में पलटी स्कूल बस - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: फोन में व्यस्त चालक ने सांसत में डाल दी मासूमों की जान, सादात इलाके में पलटी स्कूल बस

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर सादात स्कूल बस के चालक की घोर लापरवाही ने सवार मासूम बच्चों की जान जोखिम में डाल दी। बस सड़क किनारे खेत में पलट गई। संयोग रहा कि बच्चों की जान गई लेकिन कई घायल हो गए। यह वाकया कटयां गांव की राय बस्ती मोड़ पर मंगलवार की सुबह करीब आठ बजे का है। इस मामले में एमबीएम स्कूल शिशुवापार के मैनेजर अमरनाथ राय के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। 

बस सवार बच्चों का कहना है कि चालक एक हाथ से बस की स्टेरिंग संभाल रहा था और दूसरे हाथ में फोन लेकर बात में व्यस्त था। बस जैसे ही चौराहे पर पहुंची कि चालक पांडेयपुर की तरफ बस को घुमाने लगा लेकिन एक हाथ से स्टेरिंग कंट्रोल नहीं हुई और बस अनियंत्रित होकर पानी भरे खेत में पलट गई। उसके बाद बच्चों को वह अपने हाल पर छोड़ कर भाग गया। खेत में धान की रोपाई कर रहे मजदूरों और चौराहे पर खड़े ग्रामीणों ने बस का शीशा तोड़ कर किसी तरह बच्चों को बाहर निकाला। बचाव में कार्य में लगे मजदूरों तथा युवक टोनी राय को भी चोट आई। उनके पैरों में बस के शीशे के टुकड़े धंस गए।

बस में सवार टीचर जूही सहित कुछ बच्चों को चोटें आईं। उनमें ज्यादा जख्मी सात बच्चों को तत्काल सैदपुर सीएचसी भेजा गया। वहां भी चिकित्सकों ने लापरवाही दिखाई। एक्स-रे तक में हिलाहवाली शुरू हुई। तब भाजपा के आईटी सेल के अनूप जायसवाल अनुराग आदि ने पहुंच कर चिकित्सकों पर दबाव बनाया। उसके बाद एक बच्चे का एक्स-रे हुआ और अन्य की मरहम पट्टी के बाद उन्हें घर भेजा गया। बस हादसे की जानकारी मिलते ही बच्चों के घरों में भी कोहराम मच गया। उनके अभिभावक मौके पर पहुंच गए थे। एसएचओ सादात सुरेंद्र सिंह ने बताया कि बस संबंधित स्कूल की थी। लिहाजा उसके मैनेजर अमरनाथ राय के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। जाहिर है कि यह घोर लापरवाही का मामला है। एसएचओ के अनुसार फिलहाल चालक का पता नहीं चला है। बस बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad