गाजीपुर: अंसारी बंधुओं के लिए शिवपाल जरूर रखेंगे सॉफ्ट कार्नर! - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: अंसारी बंधुओं के लिए शिवपाल जरूर रखेंगे सॉफ्ट कार्नर!

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संयोजक शिवपाल सिंह यादव भले अपने भतीजे और सपा मुखिया अखिलेश यादव को लोकसभा में जाने से रोकने के लिए गणित बैठा रहे हों लेकिन गाजीपुर संसदीय सीट को लेकर उनकी रणनीति कुछ और भी हो सकती है। मालू्म हो कि सपा मुखिया अखिलेश यादव पहले ही कन्नौज संसदीय सीट से चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं। शायद यही वजह है कि कन्नौज सीट पर शिवपाल यादव की भी खास नजर है। बुधवार को वह कन्नौज पहुंचे थे। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर कन्नौज के ठठिया मंडी मोड़ पर रुके और अपने समर्थकों संग बैठक किए। ठठिया के रहने वाले अपने खास राजेश यादव तथा राजेंद्र सिंह को उन्होंने अपने मोर्चा का झंडा सौंपा। लगे हाथ राजेश यादव को लोकसभा चुनाव प्रभारी भी नियुक्त करते हुए उन्हें प्रदेश की सभी 80 सीटों पर उम्मीदवारों के चयन की जिम्मेदारी भी दिए।

उस मौके पर शिवपाल ने कहा कि कन्नौज संसदीय सीट पर कोई मुस्लिम चेहरा को उम्मीदवार बनाया जाए। साथ ही मोर्चा की कन्नौज इकाई के गठन पर भी वह विस्तार से चर्चा किए। शिवपाल ने यह भी कहा कि उनका मोर्चा चुनाव में किसी से गठबंधन नहीं करेगा। सियासी हलके में अपने मोर्चे का झंडा लॉन्च करने के बाद शिवपाल यादव का कन्नौज जाना सपा मुखिया के कन्नौज सीट से चुनाव लड़ने के ऐलान से जोड़ कर देखा जा रहा है लेकिन गाजीपुर के राजनीतिक प्रेक्षक यह मान रहे हैं कि शिवपाल यादव गाजीपुर सीट को लेकर सॉफ्ट रह सकते हैं। वजह अंसारी बंधु होंगे। यह सबको पता है कि शिवपाल यादव के दिल में अंसारी बंधुओं के लिए जगह है। याद रहे कि विधानसभा चुनाव से पहले शिवपाल यादव ही अंसारी बंधुओं की अगुवाई वाले कौमी एकता दल का विलय सपा में कराए था। तब अखिलेश यादव ने अंसारी बंधुओं के विलय पर कड़ा एतराज जताया था। यहां तक कि शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के बीच तब शुरू हुई लड़ाई में अंसारी बंधु भी एक अहम मुद्दा बन गए थे। आखिरकार अखिलेश की चली थी। उस लड़ाई का परिणाम भी लोग भूले नहीं हैं जब अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह यादव की जगह खुद सपा के अध्यक्ष बन गए थे।

बहरहाल, अब जबकि अंसारी बंधु बसपा में हैं और शिवपाल यादव अपना अलग समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बना कर अखिलेश यादव को चुनौती देने के लिए कमर कस चुके हैं। इधर बसपा सपा से गठबंधन के तहत पूर्व सांसद अफजाल अंसारी की गाजीपुर सीट से उम्मीदवारी लगभग तय कर चुकी है। इस दशा में शिवपाल यादव गाजीपुर सीट को लेकर क्या रणनीति अपनाएंगे यह तो उसी वक्त पता चलेगा लेकिन यह चर्चा है कि उस दशा में गाजीपुर सीट पर अफजाल अंसारी के लिए शिवपाल यादव का सॉफ्ट कार्नर जरूर रहेगा।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad