गाजीपुर: जखनियां में लगेगी रेल बैगन टॉवर की फैक्ट्रीः मनोज सिन्हा - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: जखनियां में लगेगी रेल बैगन टॉवर की फैक्ट्रीः मनोज सिन्हा

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर जखनियां विधानसभा क्षेत्र में अब रेल बैगन टॉवर की फैक्ट्री लगेगी। इसका निर्माण दिसंबर के पहले सप्ताह में शुरू हो जाएगा। संचार एवं रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने यह घोषणा की। अपने संसदीय क्षेत्र गाजीपुर में तीन दिवसीय दौरे के दूसरे दिन मंगलवार को वह जखनियां विधानसभा क्षेत्र के गुरैनी के अलावा सैदपुर क्षेत्र के रामपुर मांझा सहित सदर विधानसभा क्षेत्र के वनगांवा तथा चिलार में जनसभाओं को संबोधित किए। गाजीपुर में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के संदर्भ में उन्होंने बताया कि जिला मुख्यालय पर रेलवे का जोनल ट्रेनिंग सेंटर स्थापित हो चुका है। औड़िहार मे डेमू व मेमू ट्रेनों की मरम्मत का वर्कशॉप और बनकर तैयार है। उसका लोकार्पण दिसंबर में होगा। सैदपुर में इलैक्ट्रिक इंजन के वर्कशॉप का निर्माण भी जारी है। यह सभी परियोजनाएं परोक्ष रुप से गाजीपुर के लोगों के लिए रोजगार उपलब्ध कराएंगी। इस मौके पर उन्होंने गाजीपुर में शिक्षा सुविधाओं पर जोर देते हुए रिटायर शिक्षकों से आग्रह किया कि वह अपने गांवों के स्कूलों में एक घंटा बच्चों को निःशुल्क पढ़ाएं। उनका कहना था कि अगर ऐसा हुआ तो उसी दिन शिक्षा के मामले में गाजीपुर पूरे देश में एक मॉडल के रूप में सामने आएगा। कहे कि शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए राजकीय इंटर कॉलेज सभी स्कूलों को वह ई- एजुकेशन शिक्षा प्रणाली से जोड़ेंगे। बताए कि पूरे गाजीपुर में 100 सरकारी स्कूलों को मॉडल स्कूल के रूप में विकसित करने का काम दिसंबर तक पूरा हो जाएगा।

श्री सिन्हा  बताए कि नए गाजीपुर के निर्माण में बच्चों की सहभागिता के लिए उनकी ओर से आमंत्रित किए गए स्कूली बच्चों के करीब 50 हजार पत्र मिल चुके हैं। उसमें बच्चों ने अपनी सोच और समझ के हिसाब से नए गाजीपुर के निर्माण के लिए सुझाव दिए हैं। उन पत्रों को पढ़ा जा रहा है और सर्वोत्तम दस पत्रों के लिए संबंधित बच्चों को सम्मानित किया जाएगा। इस मौके पर श्री  सिन्हा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बखान करना नहीं भूले। साथ ही विरोधी दलों को भी आड़े हाथ लिए। कहे कि नए भारत के निर्माण में नरेंद्र मोदी जो कुछ कर रहे हैं। उससे विरोधियों में बौखलाहट है। वह मोदी हराओ का नारा दे रहे हैं। वह उनकी सियासी दुकान बंद हो चुकी है। उनकी दलाली में दाल नहीं गल रही है। मौजूद जनसमूह को अपनी ओर खींचने के लिए उन्होंने कहा कि वह अपने साढ़े चार वर्षों के कार्यकाल में गाजीपुर को बदलने के प्रयास में जुटे हैं। 

अगर आपकी अपेक्षाओं के प्रति वह कार्य किए हैं तो आप सभी भाजपा से जुड़ें। भाजपा को ताकत और मजबूती दें। नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनने का मौका दें। इसी क्रम में बनगांवां में वह साईं बाबा मंदिर में दर्शन-पूजन भी किए। उनके साथ सदर विधायक डॉ.संगीता बलवंत, भाजपा जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह, सुनिल सिंह, प्रभुनाथ चौहान, रामहित राम, सरोज कुशवाहा, ओमप्रकाश राय, ओमप्रकाश राम, मुराहू राजभर, प्रेमसागर राजभर, अच्छे लाल गुप्त, हरेंद्र यादव, शशिकांत शर्मा, देवव्रत चौबे, सच्चिदानंद सिंह, धनंजय सिंह, अमरेश गुप्त, पवनंजय पांडेय, दुर्गविजय शर्मा, रामधीरज शास्त्री, ऊषा सिंह, अवधेश दूबे, मनोज बिंद, सोमारू चौहान, तेरसु यादव, खरभू चौहान, नीतू जायसवाल, सरोज मिश्रा, लालजी गोंड, वीपिन सिंह, ओमकार सिंह, उमाशंकर पाल, अनिल पांडेय, श्यामनारायण राम, भानू जायसवाल, रवींद्र श्रीवास्तव, वीरेंद्र चौहान, गुरु प्रसाद गुप्त, दीपक सिंह, नितीश कुमार, गोपाल राय, वीनीत शर्मा आदि लोग थे।

श्यामराज तिवारी के भी घर पहुंचे मनोज सिन्हा
गाजीपुर न्यूज़ टीम, बाराचवर नेता और कार्यकर्ता का प्रेम तब झलकता है जब कार्यकर्ता के ऊपर दुखों का पहाड़ टूटता है और नेता उसके दुख में पहुंचकर उसको ढांढ़स बंधाता है। उसके परिवार की कुशल क्षेम पूछता है। कुछ ऐसा ही वाकया सोमवार की रात्रि को हुआ। संचार एवं रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा जहूराबाद विधानसभा क्षेत्रके कुबरी गांव स्थित बलिया सांसद भरत सिंह के प्रतिनिधि व भाजपा के जिला महामंत्री पं.श्यामराज तिवारी के घर पहुंचे और उनकी दिवंगत पत्नी पूर्व प्रधान सुमिला तिवारी के आकस्मिक निधन पर संवेदना जताए। सुमिला तिवारी के निधन के कई दिन बाद उनके घर पहुंचने पर वह व्यस्तता का हवाला देते हुए क्षमा भी मांगे। फिर शोकसंतप्त परिवारीजनों का ढांढ़स बंधाए। उनके साथ भाजपा जिलाध्यक्ष भानूप्रताप सिंह, क्षेत्रीय  उपाध्यक्ष कृष्णबिहारी राय, अखिलेश राय, नरेंद्र नाथ सिंह, कृष्णानंद राय, सुनील सिंह, मयंक राय, शशिभूषण सिंह नथुनी, प्रदीप सिंह, कामता राजभर, आनंद श्रीवास्तव, संपूर्णानंद उपाध्याय, पप्पू महंथ, शिवशंकर गुप्त, देवेंद्र सिंह मुन्ना आदि भी थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad