गाजीपुर सराफा व्यवसायी मर्डरः पीड़ित परिवार पहुंचा डीएम के दरबार, लगाया सुरक्षा की गुहार - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर सराफा व्यवसायी मर्डरः पीड़ित परिवार पहुंचा डीएम के दरबार, लगाया सुरक्षा की गुहार

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर शहर के बहुचर्चित सराफा व्यवसायी सुशील वर्मा हत्याकांड में अब तक पुलिस की सारी कवायद का नतीजा शून्य है। ऐसा नहीं पुलिस महकमा इसको लेकर सुस्त पड़ गया है। पुलिस कप्तान डॉ.यशवीर सिंह हर रोज इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। यह वजह है कि उन्होंने शहर कोतवाल राजीव कुमार सिंह को इस मामले में लापरवाही बरतने पर तत्काल प्रभाव से हटा दिया। बावजूद पीड़ित परिवार दहशत में है। शुक्रवार को सराफा व्यापारमंडल तथा जिला उद्योग व्यापार मंडल के नेताओं संग पीड़ित परिवार डीएम के बालाजी से मिला। मृत सुशील वर्मा की मां पुष्पा देवी एकदम से बिलख पड़ीं। किसी तरह उन्हें ढांढ़स बंधाया गया। वह बोलीं-डीएम साहब मेरे बेटे के हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी कराई जाए। घटना के बाद से पूरा परिवार दहशत में जी रहा है।

उद्योग व्यापारमंडल के अध्यक्ष अबू फखऱ खां ने कहा कि इस घटना से पूरा व्यापारी तथा उद्यमी सहम गए हैं। सुशील वर्मा के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग के लिए वह कई बार पुलिस अधिकारियों से मिले लेकिन नतीजा कुछ नहीं मिला। सराफा व्यापारमंडल के महामंत्री संतोष वर्मा ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि घटना को एक माह से अधिक हो गए लेकिन अभी तक हत्यारों की न पहचान हो पाई और न वह गिरफ्तार हुए हैं। इससे पुलिस से व्यापारियों का विश्वास डगमगाने लगा है। डीएम से मृत सुशील वर्मा की पत्नी को संविदा पर नौकरी देने की भी मांग की गई। डीएम के बालाजी ने आश्वस्त किया कि वह इस सिलसिले में पुलिस कप्तान से बात करेंगे।

डीएम से मिलने वालों में मृत सुशील वर्मा के पिता सुरेश वर्मा, भाई सतीश वर्मा के अलावा व्यापारी नेता दिनेश वर्मा, कमरुजमा, अनूप वर्मा, जवाहर लाल वर्मा, अतीक अहमद आदि थे। मालूम हो कि पिछले माह 21 तारीख की रात करीब नौ बजे टैक्सी स्टैंड स्थित शराब की दुकान के पास बाइक सवार बदमाशों ने सुशील वर्मा की गोली मार कर हत्या कर दी थी। तब वह सिटी स्टेशन-बड़ीमार्ग स्थित अपनी दुकान से घर लौट रहे थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad