गाजीपुर: पीजी कालेज छात्र संघ चुनाव: मौर्यकाल समाप्त, दो वर्षो के वनवास के बाद यादवों का वर्चस्व - Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: पीजी कालेज छात्र संघ चुनाव: मौर्यकाल समाप्त, दो वर्षो के वनवास के बाद यादवों का वर्चस्व

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर पीजी कालेज छात्र संघ चुनाव में दो वर्ष वनवास के बाद यादवों ने एक बार फिर परचम लहराया है। कांटे के संघर्ष में कुशवाहों के वर्चस्व को समाप्त करते हुए अध्यक्ष पद पर सम्पूर्णानंद यादव, उपाध्यक्ष दीपक उपाध्याय, महामंत्री सुधांशु तिवारी निर्वाचित हुए हैं। पीजी कालेज छात्र संघ चुनाव काफी गरमा-गरमी के बीच सम्पन्न हुआ। जिसमे 12 अक्टूबर को पीजी कालेज छात्र संघ चुनाव में मतदान के दौरान महामंत्री पद के प्रत्यशी सुधांशु तिवारी का बैलेट पेपर पर नाम नही होने से महामंत्री का चुनाव रद्द कर दिया गया था। जिसके बाद कालेज प्रशासन ने यह चुनाव 15 अक्टूबर को कर दिया। सोमवार को महामंत्री पद के प्रत्‍याशियों का मतदान शुरु हुआ। मतदान दोपहर के एक बजे तक चला। तीन बजे से मतगणना चालू हुआ। मतगणना शुरु होते ही प्रत्याशी का धड़कन बढ़ने लगी। परिणाम घोषित होते ही कही खुशी तो कही गम का माहौल बन गया। जिसमे अध्यक्ष पद के लिए पांच प्रत्याशी मैदान में थे। जिसमे सम्पूर्णानंद यादव 1547 मत, पप्पू कुमार 1076 मत, मंजित कुशवाहा 527 मत, सोनू यादव 778, दीपक पाल को 118 मत मिले। जिसमे सम्पूर्णानंद यादव को 471 मतों से विजयी घोषित किया गया। उपाध्य क्ष पद के लिए चार प्रत्या्शी मैदान में डटे थे। जिसमे दीपक उपाध्याय 1354 मत, रुद्रप्रताप यादव 1246, जयप्रताप 978, सुभाष बिंद को 759 मत प्राप्त। हुए और 43 मत अवैध घोषित किया गया। जिसमे दीपक उपाध्याय 108 वोटों से विजयी घोषित हुआ। महामंत्री पद के लिए पांच प्रत्याशी सुधांशु तिवारी 1094, प्रशांत सिंह यादव 977, बृजेश सिंह 394, राहुल सिंह 59, अमित कुमार शर्मा को 43 मत मिले। जिसमे सुधांशु तिवारी 117 मतों से विजयी घोषित किये गये। पुस्तकाल मंत्री पद के लिए चार प्रत्याशी मैदान में थे। जिसमे शैलेष सिंह कुशवाह 1323, कृष्ण कुमार यादव 1164, अजीत कुमार यादव 930, मुकेश कुमार को 865 मत मिले। जिसमे शैलेष सिंह कुशवाहा को 159 मतों से विजयी घोषित किया गया। कला संकाय प्रतिनिधि पद के लिए चार प्रत्याशी मैदान में थे। जिसमे वीर बहादुर यादव को 868, सूरज साहनी 763, चंद्रभूषण उपाध्याय 447, सुनील कुमार प्रजापति को 444 मत प्राप्त हुए। जिसमे वीर बहादुर यादव को 105 मतों से विजयी घोषित किया गया। विज्ञान संकाय प्रतिनिधि पद के लिए आमने-सामने की टक्कर थी। जिसमे एक तरफ अलका कुमारी को 481 मत, मु. शादिक को 180 मत प्राप्त हुए। जिसमे अलका कुमारी 301 मतों से विजयी हुईं। कृषि संकाय प्रतिनिधि पद के लिए रामप्रकाश यादव को 115, आशीष पांडेय 113, दीपक यादव 99, शशिकांत कुशवाहा को 66 मत प्राप्त हुए। जिसमे रामप्रकाश यादव दो मतों से विजयी हुए। वाणिज्य संकाय प्रतिनिधि पद के‍ लिए तीन प्रत्याशी मैदान में थे। जिसमे अंकित कुमार यादव 247, अभिजीत सिंह 169, शैलेष यादव को 134 मत मिले। जिसमे अंकित कुमार यादव 78 मतों से विजयी हुए। शारिरिक शिक्षा संकाय प्रतिनिधि पद के लिए त्रिभुवन चौहान 78, सुशील गहलौत को 38 मत मिले। जिसमे त्रिभुवन चौहान 40 मतों से विजयी हुए। शिक्षा संकाय प्रतिनिधि पद के लिए मुकेश यादव को पहले से ही निर्विरोध चुन लिया गया था। विजयी प्रत्याशियों को कालेज के प्राचार्य डा. अशोक कुमार सिंह ने माल्यार्पण किया। चुनाव अधिकारी डा. बद्रीनाथ सिंह ने विजयी प्रत्याशियों को पद एवं गोपनियता की शपथ दिलाकर प्रमाण पत्र देकर उनके भविष्य की शुभकामनाएं दी।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad