गाजीपुर: कांग्रेस का ‘पंजा’ लेकर जोर आजमाएंगे अनिल कुशवाहा! - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: कांग्रेस का ‘पंजा’ लेकर जोर आजमाएंगे अनिल कुशवाहा!

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर कांग्रेस गाजीपुर लोकसभा सीट पर भाजपा को घेरने के लिए अपनी सहयोगी जनअधिकार पार्टी के नेता अनिल कुशवाहा को उम्‍मीदवार बनाएगी। यह जानकारी गाजीपुर न्यूज़ टीम को जनअधिकार पार्टी के जिलाध्‍यक्ष पवारू कुशवाहा ने दी। बताए कि उम्‍मीदवारी के लिए उनकी पार्टी की जिला इकाई ने अपने केंद्रीय नेतृत्‍व को अनिल कुशवाहा का नाम भेज दिया है। 

अनिल कुशवाहा अपना चुनाव अभियान भी शुरू कर दिए हैं। वह गाजीपुर शहर के नुरूद्दीनपुरा मुहल्‍ले के रहने वाले हैं। उन्‍होंने अपनी राजनीति बसपा से शुरू की। बाद में बाबू सिंह कुशवाहा के साथ वह भी बसपा से दूर हो गए। जनअधिकार पार्टी के जिलाध्‍यक्ष ने बताया कि लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी फिरकापरस्‍त ताकतों को रोकने के लिए अपना पूरा दमखम लगाएगी। हालांकि जनअधिकार पार्टी की गाजीपुर में उम्‍मीदवारी के बाबत चर्चा करने पर कांग्रेस के जिलाध्‍यक्ष डॉ. मारकंडेय सिंह ने कुछ भी बताने में असमर्थता जताई। उनका कहना था कि जनअधिकार पार्टी से चुनावी गठजोड़ के बाबत उनकी खुद की पार्टी के ऊपर के नेतृत्‍व से फिलहाल कुछ नहीं बताया गया है। मालूम हो कि कुछ ही दिन पहले मीडिया में कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष राजबब्‍बर के हवाले से बताया गया था कि गाजीपुर संसदीय सीट समझौते के तहत जनअधिकार पार्टी के लिए छोड़ दी गई है। 

इस सीट पर कांग्रेस के चुनाव निशान पंजा के साथ जनअधिकार पार्टी का कोई उम्‍मीदवार मैदान में उतरेगा। उसके बाद से ही माना जा रहा था कि कांग्रेस भाजपा के कुशवाहा बिरादरी के आधार में सेंधमारी की कोशिश करेगी। गाजीपुर के कुशवाहा समाज के लिए जनअधिकार पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बाबू सिंह कुशवाहा अजनबी नहीं हैं। जब वह बसपा में थे और बसपा की सरकार में मंत्री रहते हुए उन्‍होंने गाजीपुर के कुशवाहा समाज में अपनी पकड़ ठीक से बना ली थी। शायद यही वजह रही कि बसपा से जब वह निकाले गए तब वर्ष 2007 के विधानसभा चुनाव अभियान में भाजपा उनको गाजीपुर बुलाई थी। 

उस दौरान उन्‍होंने कुछ चुनावी सभाएं भी की थी। उसके बाद भाजपा से उनका मोहभंग हो गया। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में उनकी पत्‍नी शिवकन्‍या को सपा अपने टिकट पर गाजीपुर सीट से लड़ाई थी। इस बार के लोकसभा चुनाव में शिवकन्‍या के चंदौली सीट से लड़ने की खबर मीडिया में आ चुकी है। इधर गाजीपुर के राजनीतिक प्रेक्षक भी मान रहे हैं कि बाबू सिंह कुशवाहा की पार्टी की उम्‍मीदवारी बहुत न सही पर कुछ तो भाजपा का नुकसान कर सकती है। जनअधिकार पार्टी के जिलाध्‍यक्ष का दावा है कि गाजीपुर संसदीय क्षेत्र में कुशवाहा समाज के वोटरों की संख्‍या दो लाख से अधिक है। इस संसदीय क्षेत्र में कुशवाहा समाज के वोटरों का बड़ा पैकेट जमानियां फिर सदर और उसके बाद जंगीपुर विधानसभा क्षेत्र में हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad