गाजीपुर: 10 करोड़ की लागत से छह गंगा घाटों का होगा सुंदरीकरण- मनोज सिन्हा - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: 10 करोड़ की लागत से छह गंगा घाटों का होगा सुंदरीकरण- मनोज सिन्हा

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर किसी भी क्षेत्र के विकास में कनेक्टिविटी का बड़ा महत्व होता है। यह महीना मार्च का है। आने वाले जून महीने में गाजीपुर से दिल्ली और गाजीपुर से कोलकाता के लिए हवाई सेवा की शुरुआत हो जाएगी। जिससे जनपद वासियों को किसी अन्य जिले में हवाई सेवा के लिए जाने की आवश्यकता नहीं होगी। उपरोक्त बातें केंद्रीय रेल व संचार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा ने आज नगर पालिका परिषद गाजीपुर द्वारा नगर जलकल प्रांगण में 14वां वित्त व राज्य वित्त अंतर्गत लगभग 9 करोड़ से 84 विकास कार्यों व नमामि गंगे परियोजना के तहत 6 गंगा घाटों के सुंदरीकरण व आधुनिकीकरण के शिलान्यास करने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कही। 

उन्होंने कहा कि आजादी के बाद 2014 तक देश में कुल 47 एयरपोर्ट थे लेकिन 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार बनने के बाद आज देश में एयरपोर्टों की संख्या 103 हैं। आने वाले समय में 23 और नए एयरपोर्ट देश में बन जाएंगे। कहा कि यह सत्य है जिससे परिवर्तन समझ में आता है। उन्होंने आगे कहा कि नमामि गंगे परियोजना का कार्य जब प्रारंभ हुआ था तो उतनी गति नहीं थी जितनी होनी चाहिए थी। मगर पिछले दो ढाई वर्षों में इस योजना के अंतर्गत 136 बड़ी परियोजनाएं बनी। जिसमें 64 पर काम चल रहा है बाकी पर काम प्रारंभ करने की स्थिति में है। गंगा को अविरल निर्मल करने का जो लक्ष्य हमारी सरकार ने रखा था। उसमें एक बड़ा मुकाम हासिल किया है नमामि गंगे परियोजना ने और मुझे उम्मीद है कि आने वाले 2 वर्षों में मां गंगा पूरी तरह अविरल निर्मल हो जाएंगी। 

इसके लिए मैं मां गंगा से भी प्रार्थना करता हूं कि यह लक्ष्य हम जल्द से जल्द प्राप्त करें क्योंकि गंगा केवल हमारे लिए नदी नहीं है। इस देश के लोगों की जीवनदायिनी है। कानपुर जहां सबसे दूषित पानी था। वहां भी काफी परिवर्तन दिखाई पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि जनपद में गाजीपुर, सैदपुर, जमानिया और गहमर आदि स्थानों को मिलाकर कुल 17 गंगा घाटों के आधुनिकीकरण का प्रस्ताव भेजा गया था। जिसमें 6 घाटों के प्रस्ताव स्वीकृत हुए हैं। आने वाले कुछ दिनों में बाकी अन्य घाटों का भी प्रस्ताव स्वीकृत हो जाएगा। इन घाटों पर इस योजना के अंतर्गत बैठने के लिए सुव्यवस्थित स्थान, उचित प्रकाश, स्वच्छ पीने का पानी व महिलाओं के लिए वस्त्र बदलने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि 2014 से पहले पूर्वी उत्तर प्रदेश काफी उपेक्षित रहा है। 

भारत सरकार की बड़ी परियोजनाएं पूर्वी उत्तर प्रदेश में नहीं आ पाती थी लेकिन जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार बनी है। संसद में अनेकों बार अपने भाषण में प्रधानमंत्री जी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश का जिक्र किया है। वह सिर्फ भाषण नहीं उसका धरातल पर विकास कर पूर्वी उत्तर प्रदेश को आगे लाने की पूरी कोशिश भी की है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों की एक बड़ी मांग थी कि बनारस के सर सुंदरलाल चिकित्सालय को दिल्ली के एम्स जैसा बनाया जाए। इस कार्य पूर्वी उत्तर प्रदेश और बनारस को काफ़ी इंतजार करना पड़ा। लेकिन अब उस दिशा में काम तेजी से हो रहा है। उन्होंने कहा कि पहले लोग बहुत नहीं सोचा करते थे। 

गड्ढे में सड़क की सड़क में गड्ढा इसमे फर्क करना मुश्किल था। लेकिन आज युवा जब गूगल के माध्यम से वाशिंगटन की सड़कों और रेलवे स्टेशनों को देखता है तो उसके मन में भी यह कल्पना रहती है कि उसके देश में भी ऐसी सड़के और स्टेशन बने। उस कल्पना को मूर्त रूप प्रदान करने की दिशा में नरेंद्र मोदी सरकार ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में पिछले साढ़े 4 वर्षों में रेल व सड़क के विकास पर 88 हजार करोड रुपए खर्च किए हैं। गाजीपुर नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष सरिता अग्रवाल ने अपने संबोधन में मुख्य अतिथि सहित उपस्थित सभी का स्वागत करते कहा कि नगर के चौतरफा विकास पिछले 6 वर्षों से हो रहा है। आने वाले समय में भी यह निरंतर जारी रहेगा। नगर में निवास करने वाले अंतिम व्यक्ति तक सभी सुविधाओं का लाभ पहुंचे। 

इसके लिए नगर पालिका परिषद गाजीपुर सदैव प्रयासरत है। आज लगभग 9 करोड़ की लागत से होने वाले विकास कार्यों के शुभारंभ के बाद आने वाले समय में गाजीपुर नगर का कोई भी ईलाका विकास कार्यों से अछूता नहीं रहेगा। पूर्व नपाध्यक्ष विनोद अग्रवाल ने कहा कि जब मैं नगर पालिका का अध्यक्ष था तब विपरीत परिस्थितियों के बावजूद नगर के सर्वांगीण विकास के लिए पूरी तरह संकल्पित था। आज इस कार्यकाल में भी बीते 1 साल में निरंतर विकास कार्य चल रहे हैं। मैं आप सभी को आश्वस्त करता हूं कि आने वाले 2 सालों में गाजीपुर नगर पालिका को एक आदर्श नगर पालिका के रूप में स्थापित कर। 

आप लोगों को समर्पित कर दूंगा। कार्यक्रम को वरिष्ठ अधिवक्ता रामपूजन सिंह, एमएच इंटर कॉलेज के प्राचार्य मोहम्मद खालिद ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम की शुरुआत माननीय मंत्री व नपा अध्यक्ष सरिता अग्रवाल ने विकास कार्यों के पट अनावरण व विधिवत पूजन अर्चन कर किया। इसके पश्चात नपा सभासदों ने मुख्य अतिथि का माल्यार्पण कर स्वागत किया। 

इस अवसर पर प्रमुख रूप से भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष कृष्ण बिहारी राय, क्षेत्रीय मंत्री सरोज कुशवाहा, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुनील सिंह, मारकंडे सिंह, जितेंद्रनाथ पांडेय, अमरनाथ तिवारी, अजय पाठक, रामाधार राय, राम कुंवर बहादुर सिंह अच्छेलाल गुप्ता, शशिकांत शर्मा, आईटी विभाग के जिला संयोजक कार्तिक गुप्ता, अखिलेश सिंह, गर्वजीत सिंह, निर्गुनदास केशरी, अर्जुन सेठ, अजय गुप्ता, प्रशांत राय, भानु केशरी, सहित सभी वार्डों के सभासद वह काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे। संचालन नगर पालिका गाजीपुर के विधिक सलाहकार जयसूर्य भट्ट ने किया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad