गाजीपुर: गठबंधन के साथ सुभासपा विधायक! - Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: गठबंधन के साथ सुभासपा विधायक!

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर एक ओर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी लोकसभा चुनाव में भाजपा समेत सपा-बसपा गठबंधन के विरोध में कई सीटों पर अपना उम्‍मीदवार उतारी है। वहीं उसके लोग गठबंधन उम्‍मीदवारों के साथ हो गए हैं। कम से कम गाजीपुर संसदीय क्षेत्र में यही स्थिति है। इस बात की पुष्टि सोशल मीडिया में वायरल हो रही एक फोटो भी कर रही है। उस फोटो में सुभासपा के जखनियां विधायक त्रिवेणी राम गठबंधन उम्‍मीदवार अफजाल अंसारी के भतीजे अब्‍बास अंसारी के साथ गूफ्तगूं करते नजर आ रहे हैं। 

यह फोटो त्रिवेणी राम और अब्‍बास अंसारी की जखनियां विधानसभा क्षेत्र के बरहट गांव में हुई मुलाकात की बताई जा रही है। हालांकि इस सिलसिले में गाजीपुर न्यूज़ टीम ने सुभासपा उम्‍मीदवार रामजी राजभर से चर्चा की। उन्‍होंने साफ कहा कि गठबंधन उम्‍मीदवार को समर्थन की बात सरासर बकवास है। वह अपने प्रचार अभियान को गति देने में जुटे हैं और 15 मई को पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर की तीन जगह चुनावी सभा तय है। उनका कहना था कि पार्टी के विधायक की इस तरह की कोई फोटो सोशल मीडिया में वायरल हो रही है तो वह बहुत पहले की हो सकती है। 

रामजी राजभर ने अपने साथ चल रहे पार्टी विधायक त्रिवेणी राम से भी बात कराई। विधायक ने भी कहा कि वह अपने पार्टी उम्‍मीदवार के चुनाव अभियान में पूरी ईमानदारी और समर्पण के साथ लगे हैं। अपनी वायरल हो रही फोटो की चर्चा करते हुए उन्‍होंने भी कहा कि संभव हो वह फोटो बहुत पहले की होगी। वैसे गाजीपुर के सुभासपा नेता जो कहें, लेकिन प्रदेश की महाराजगंज सहित तीन संसदीय सीटों पर सुभासपा सपा-बसपा गठबंधन को समर्थन दे रही है। इसका कारण नीतिगत नहीं बल्कि वहां के पार्टी उम्‍मीदवारों के नामांकन पत्र अवैध हो चुके हैं। 

बीते विधानसभा चुनाव में भाजपा की सहयोगी रही सुभासपा का लोकसभा चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर बात नहीं बनी। उसके बाद ही सुभासपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने अलग चुनाव लड़ने का फैसला लिया। उसके बाद उन्‍होंने गाजीपुर सहित प्रदेश की कुल 39 संसदीय सीटों पर अपने उम्‍मीदवारों का एलान कर दिया। ओमप्रकाश राजभर अपने उम्‍मीदवारों के समर्थन में चुनावी सभाओं में यह भी बता रहे हैं कि इसके पहले वह अपने मंत्री पद का इस्‍तीफा भी मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को भेज चुके हैं। 

वह प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं और गाजीपुर के जहूराबाद से विधायक हैं। हालांकि देखा जाए तो सुभासपा का सीधा समर्थन मिले या न मिले। गाजीपुर में सपा-बसपा गठबंधन को इसकी फिक्र नहीं है। गठबंधन को यही सुकून है कि सुभासपा का वोटर भाजपा से दूर हो चुका है। गाजीपुर संसदीय क्षेत्र में राजभर समाज का बड़ा पैकेट जखनियां विधानसभा क्षेत्र में है। भाजपा इसकी भरपाई की कोशिश में जुटी है। प्रदेश सरकार के मंत्री अनिल राजभर का कार्यक्रम हो चुका है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad