गाजीपुर: बेहतर विकास के लिए नगर निकायों में भी भाजपा का पहुंचना जरूरीः योगी - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: बेहतर विकास के लिए नगर निकायों में भी भाजपा का पहुंचना जरूरीः योगी

गाजीपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केंद्र और प्रदेश में भाजपा की सरकार है लेकिन नगरीय विकास के लिए जरूरी है कि तालमेल बने और यह तभी संभव होगा जब नगर निकायों की भी सत्ता भाजपा के हाथों में होगी। मुख्यमंत्री शुक्रवार की शाम नगर निकाय चुनाव अभियान के क्रम में लंका मैदान में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। 

भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन देने का जनसमूह से अपील करते हुए उन्होंने पूर्ववर्ती सपा सरकार पर हमला बोला। गाजीपुर नगर पालिका के साथ बेजा दखलंदाजी की चर्चा करते हुए कहे कि पिछली सरकारें नगरीय जनता को सुविधाओं से वंचित करने का काम करती थीं। उसका प्रत्यक्ष प्रमाण गाजीपुर है। 

गाजीपुर नगर पालिका में जनता ने भाजपा का चेयरमैन बनाया लेकिन सपा सरकार बार-बार चेयरमैन के पॉवर सीज करती रही। करीब अपने 25 मिनट के भाषण में मुख्यमंत्री ने गाजीपुर नगर पालिका में हाउस टैक्स के लिए स्वकर प्रणाली की चर्चा करते हुए भरोसा दिया कि विसंगतियां शीघ्र दूर होंगी। कहा कि पूर्ववर्ती सरकारें नगर निकायों से भेदभाव बरतती थीं जबकि बड़ी आबादी नगरीय क्षेत्रों में निवास करती है। लिहाजा जरूरी है कि नगर निकायों को पुनर्जीवित किया जाए। नगरीय क्षेत्रों की दशा सुधरे। 
इसके लिए नगर निकायों के मेयर, चेयरमैन ही नहीं भाजपा के पार्षद उम्मीदवारों को भी मौका दिया जाए। मंच साझा कर रहे संचार एवं रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा की ओर इशारा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मनोज सिन्हा केंद्र से नगरीय क्षेत्रों के लिए बड़ी-बड़ी योजनाएं ला सकते हैं लेकिन उन योजनाओं के संचालन का काम नगर निकायों को ही करना होगा। इस मौके पर योगी ने अपनी सरकार का बखान करना भी नहीं भूले। बोले-हमारी सरकार ने 86 लाख किसानों का कर्ज माफ कर दिया। विरोधी सपा कहती है उसने पांच साल में 29 हजार गरीबों को आवास दिया जबकि हमारी सरकार ने मात्र सात महीने में 11 लाख गरीबों को आवास देने का काम किया है। 

पहले यूपी का व्यापारी पलायन करता था पर हमने कानून का राज स्थापित करने का जो काम शुरू किया है उसका परिणाम आ रहा है। देश के अन्य हिस्सों के उद्यमी ही नहीं दूसरे देशों के भी उद्योगपति उत्तर प्रदेश में निवेश करने के लिए आगे आ रहे हैं। पहले जहां का मुख्यमंत्री होता था वहीं बिजली मिलती थी लेकिन अब ऐसा नहीं है। लखनऊ या गाजीपुर हो। हर जिला मुख्यालयों पर बगैर भेदभाव 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। रोजगार को लेकर अपनी सरकार के कार्यों का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि पूर्ववर्ती सपा सरकार जितनी भी भर्तियां निकाली। 
वह गड़बड़ घोटाले के कारण कोर्ट उन पर रोक लगाता गया लेकिन भाजपा सरकार ने नियमों के दायरे में भर्तियां कर रही है। शीघ्र ही 47 हजार पुलिस के सिपाहियों तथा एक लाख 76 हजार शिक्षकों की नियुक्ति होनी है। इसमें कोई बेईमानी नहीं होगी। इस मौके पर संचार एवं रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि इनकी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में ही गाजीपुर में 227 करोड़ की लागत से यूपी के पहले स्पोर्ट्स कॉम्‍प्‍लेक्‍स की मंजूरी दी। इसके लिए गाजीपुर के लोग मुख्यमंत्री के आभारी हैं। 

उन्होंने उम्मीद जताई कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय की अगुवाई में पार्टी नगर निकायों में शानदार जीत दर्ज कराएगी। जनसभा की अध्यक्षता पार्टी जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह तथा संचालन महामंत्री श्यामराज तिवारी ने किया। 

मंच पर बलिया सांसद भरत सिंह, एमएलसी द्वय केदारनाथ सिंह तथा विशाल सिंह चंचल, विधायक त्रय अलका राय, सुनीता सिंह तथा डॉ.संगीता बलवंत अगली कतार में बैठे थे। पिछली कतार में पूर्व मंत्री शारदा चौहान, बाबूलाल बलवंत, पशुपति नाथ राय, काशी क्षेत्र के उपाध्यक्ष कृष्णबिहारी राय, रामतेज पांडेय, प्रभुनाथ चौहान, सच्चिदानंद राय चाचा, जिला प्रभारी नंदकिशोर पांडेय, महामंत्री ओमप्रकाश राय, ओमप्रकाश राम, रामनरेश कुशवाहा, सरोज कुशवाहा, मुराहू राजभर वगैरह को जगह मिली थी।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad