गाजीपुर: बिजली विभाग में शासनादेश की अनदेखी, तबादले के छह माह बाद भी कुर्सी नहीं छोड़े एसडीओ कासिमाबाद - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: बिजली विभाग में शासनादेश की अनदेखी, तबादले के छह माह बाद भी कुर्सी नहीं छोड़े एसडीओ कासिमाबाद

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर शासन बड़ा कि मुलाजिम बड़ा। शासन बड़ा तो मुलाजिम क्यों अड़ा। गाजीपुर के बिजली विभाग में कुछ ऐसा ही चल रहा है रगड़ा। जी हां। योगी सरकार का फरमान ठंडे बस्ते में पड़ गया है। फरमान था कि जिले और सबडिवीजन में कई सालों से पड़े इंजीनियर तत्काल प्रभाव से हटाए जाएं। उसके बाद पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के वाराणसी क्षेत्र के चीफ इंजीनियर ने ऐसे इंजीनियरों की सूची बनाई और फिर बीते 28 अप्रैल को संबंधित इंजीनियरों को हटाने का आदेश दिया। सूची में गाजीपुर के एसडीओ कासिमाबाद महेंद्र प्रसाद का नाम भी शामिल रहा। वजह यह कि जनाब वर्ष 2012 से न सिर्फ जिले में हैं बल्कि तीन साल से अधिक समय से कासिमाबाद सब डिवीजन में कुंडली मार कर बैठे हुए हैं लेकिन हैरानी यह कि चीफ इंजीनियर के आदेश के दायरे में आए अन्य जिलों के इंजीनियर हटा दिए गए। वह नई जगह कार्यभार भी संभाल लिए लेकिन महेंद्र प्रसाद की कुर्सी जस की तस बनी हुई है।

जाहिर है कि विभागीय अधिकारियों का यह खेल का नतीजा है। दरअसल, चीफ इंजीनियर के आदेश के मुताबिक महेंद्र प्रसाद की जगह चंदौली जिले के चकिया में तैनात गोपाल सिंह को आना है। जाहिर है कि गोपाल सिंह भी महेंद्र प्रसाद की तरह चकिया में अपनी कुर्सी छोड़ना नहीं चाहते। लिहाजा, स्थानापन्न एसडीओ के नहीं आने का बहाना कर महेंद्र प्रसाद भी खुद को कार्यमुक्त की कार्यवाही को टालते रहे लेकिन इसी बीच जब पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के एमडी बदले और भारतीय प्रशासनिक सेवा के तेजतर्रार अधिकारी माने जाने वाले गोविंद राजू कार्यभार संभाले तब चंदौली के विभागीय अधिकारी गोपाल सिंह को कार्यमुक्त करने में ही भलाई समझे। बीते सात सितंबर को गोपाल सिंह चकिया से कार्यमुक्त कर दिए गए। वहां की कार्यवाही को देख गाजीपुर में एसडीओ कासिमाबाद महेंद्र प्रसाद के खैरख्वाह अधिकारी भी न चाहते हुए उन्हें कार्यमुक्त करने के लिए कागजी घोड़ा दौड़ाना शुरू कर दिए।

इसी क्रम में विद्युत वितरण खंड प्रथम के एक्सईएन मनीष कुमार ने 12 सितंबर को परवाना निकाला। उसमें उन्होंने महेंद्र प्रसाद को कहा कि वह विद्युत वितरण उपखंड प्रथम के एसडीओ अभिषेक कुमार को अपना कार्यभार तत्काल प्रभाव से सौंप कर अपनी नई जगह कार्यभार ग्रहण करें लेकिन मजे की बात कि इस आदेश को भी दो दिन हो चुके हैं लेकिन महेंद्र प्रसाद ने अभी तक अभिषेक राय को कार्यभार नहीं सौंपा है। इस बाबत गाजीपुर न्यूज़ टीम ने अधीक्षण अभियंता गाजीपुर आरआर प्रसाद से चर्चा की। उन्होंने एसडीओ कासिमाबाद महेंद्र प्रसाद पर खास कृपा की बात को खारिज किया। कहे कि अव्वल तो चंदौली के एसडीओ गोपाल सिंह के नहीं आने से विभागीय कार्यहित में महेंद्र प्रसाद को कार्यमुक्त नहीं किया गया लेकिन अब जबकि एसडीओ गोपाल सिंह के चंदौली से कार्यमुक्त होने की सूचना मिली है तो महेंद्र प्रसाद का कार्यभार लेने के लिए एसडीओ अभिषेक राय को आदेश दिया गया है। यह कार्यवाही पूरी होने में वक्त तो लगेगा ही। विभागीय सूत्रों की मानी जाए तो ऊपर के अधिकारी महेंद्र प्रसाद के प्रभाव में हैं। वह चाहते हैं कि महेंद्र प्रसाद अपनी जगह बने रहें। बस दिखावे के लिए वह कागजी कार्यवाही का कोरम पूरा कर रहे हैं। बहरहाल, शासन के आदेश की इस तरह अनदेखी कर एक अदने एसडीओ को उसकी जगह यथावत बनाए रखने के इस खेल की विभाग में खूब चर्चा हो रही है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad