गाजीपुर: छात्रों के कब्जे में पूरे दिन रहा शहर, चरमराई यातायात व्यवस्था, सहजानंद के छात्रों के दो गुटों में मारपीट - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: छात्रों के कब्जे में पूरे दिन रहा शहर, चरमराई यातायात व्यवस्था, सहजानंद के छात्रों के दो गुटों में मारपीट

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर छात्रसंघ चुनावों में लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों के तहत गुरुवार को लागू आचार संहिता पूरी तरह तार-तार हो गईं। नामांकन के लिए पीजी कॉलेज तथा सहजानंद कॉलेज के छात्रों ने आचार संहिता के विपरीत लंबे जुलूस निकाले। जुलूस के चलते पूरे शहर की यातायात व्यवस्था घंटों बिगड़ी रही। घंटों जगह-जगह जाम लगे रहे। जाम में स्कूली बच्चे, एंबुलेंस तक फंसी रहीं। पुलिस वेबस बनी रही। उसी बीच सहजानंद कॉलेज के दो उम्मीदवारों के समर्थक आमने-सामने आ गए। मौके पर पहुंची पुलिस पर पथराव किए। आखिर में पुलिस अपनी वाली पर उतरी तो वह भाग खड़े हुए। मौके से कुछ छात्रों को हिरासत में लिया गया। यातायात व्यवस्था का आलम यह था कि सुबह दस बजे निकले उम्मीदवारों के नामांकन जुलूसों के चलते मिश्रबाजार, महुआबाग चौराहे, सिंचाई विभाग चौराहा, गोराबाजार, विशेश्वरगंज, लंका, रौजा ओवरब्रिज सहित कई स्थानों पर जाम लग गया। यह स्थिति करीब दोपहर एक बजे तक रही। उसके बाद नामांकन के बाद उम्मीदवारों के निकले जुलूस दोबारा यातायात जाम की नौबत ला दिए। जाम में फंसे आमजन खासकर महिलाएं और स्कूली बच्चे धूप में फड़फड़ाते रहे। एंबुलेंस में रोगी लिए अभिभावक बेचैन थे। वाहन क्या पैदल चलना भी मुश्किल था। बावजूद पुलिस कर्मी कुछ भी करने की स्थिति में नहीं थे। शाम चार बजे के बाद ही जुलूस लौटे तभी यातायात व्यवस्था फिर से बहाल हुई।

डीएम के बालाजी को यह खबर मिली। उन्होंने दोनों कॉलेज के प्रिंसिपल को फोन कर लिंगदोह कमेटी के तहत लागू आचार संहिता के बाबत जानकारी मांगी लेकिन उन्हें जवाब यही मिला कि वह कॉलेज कैंपस के बाहर कुछ नहीं कर सकते। हालांकि प्रशासन ने शहर कोतवाली सहित आरक्षित पुलिस बल और आसपास के थानों की फोर्स तैनात की थी लेकिन छात्रों की भीड़ और उनके तेवर के आगे यह इंतजाम भी जहां के तहां रह गए। जाम में फंसे लोग जहां छात्रों को कोस रहे थे वहीं प्रशासन को भी जिम्मेदार ठहरा रहे थे। उनका कहना था कि आखिर यह सब संभावित था। तब प्रशासन ने एहतियाती कदम क्यों नहीं उठाया।

उधर नामांकन खत्म होने के बाद स्वामी सहजानंद कॉलेज के छात्रों का दो गुट पीरनगर चौराहे के पास आपस में भिड़ गए। दोनों ओर से मारपीट होने लगी तो पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस को देखते ही छात्र पथराव शुरू कर दिए। इससे भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। तब पुलिस लाठी भांज कर किसी तरह हालात पर काबू पाई। मौके पर छात्रसंघ अध्यक्ष पद के उम्मीदवार आशीष राय के समर्थक छात्रों को हिरासत में लेकर कोतवाली भेजा गया। मौका देख पुनित राय के समर्थक भाग गए। चश्मदीदों के मुताबिक दोनों उम्मीदवारों को जुलूस पीरनगर में आमने सामने आ गया। एक-दूसरे पर टंटबाजी शुरू हो गई। फिर कुछ ह देर में दोनों गुटों में कहासुनी और फिर मारपीट होने ल गी। मौके पर पहुंची पुलिस को देख कुछ छात्र पत्थरबाजी करने लगे। तब पुलिस के जवान अपना बचाव करते हुए लाठियां भांजना शुरू किए। शहर कोतवाल ने बताया कि हिरासत में लिए गए छात्रों में शिब्बू राय, आशीष राय, अविनाश राय, निजामुद्दीन सोनू का शांति भंग में चालान होगा लेकिन अमानत अली, अबुजैद अहमद तथा प्रदीप कनौजिया भी कोतवाली में बैठाए गए हैं। इनके कब्जे से बाइक तथा प्रचार वाहन सहित कुछ चार पहिया वाहन भी पुलिस जब्त की है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad