गाजीपुर: 42 परिवार के लोग धर्म बदल बने ईसाई, हिरासत में प्रचारक - गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़ : Ghazipur News in Hindi, ग़ाज़ीपुर न्यूज़ इन हिंदी

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: 42 परिवार के लोग धर्म बदल बने ईसाई, हिरासत में प्रचारक

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर लहुरीकाशी के दर्जनों गांवों में गैरधर्म प्रचारकों के दखल के बाद 42 परिवार सनातन धर्म त्यागकर ईसाई बन गए। आरोप है कि खानपुर के जल्दीपुर, नेवादा ओर बिझवल में तीस से ज्यादा हिन्दू परिवारों का प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन कराया गया। वहीं बहरियाबाद में 12 परिवारों से डेढ़ दर्जन लोगों के धर्म परिवर्तन से हड़कंप मच गया है। डीएम ने एसडीएम और पुलिस को जांच व कार्रवाई  के निर्देश दिए हैं। एसओ खानपुर ने बिझवल के प्रमुख प्रचारक गुड्डू राम को हिरासत में लिया है। 

जिले की अलग-अलग क्षेत्रों में पिछले लगभग 15 महीने से हर रविवार चल रहीं प्रार्थना सभाओं के बाद पिछले चंद दिनों लगभग 42 परिवारों का धर्म परिवर्तन कराया गया। आरोप है कि खानपुर, बहरियाबाद और औडि़हार के दर्जनों गांवों में मिशनरी के लोग धन और इलाज का प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन की सीख दे रहे हैं। खानपुर के जल्दीपुर, नेवादा ओर बिझवल में तीस से ज्यादा हिन्दू परिवारों का प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन कराया गया।

बहरियाबाद के फौलादपुर में 12 परिवारों से डेढ़ दर्जन लोगों ने घरों में यीशू की प्रतिमा और क्रास लगाया है। सबसे ज्यादा लोग एससी/एसटी और पिछड़े वर्ग से हैं। जिले में खुलेआम प्रार्थना सभाओं और धर्म परिवर्तन का मामला प्रकाश में आने के बाद प्रशासन स्तब्ध है। डीएम के. बाला जी ने मामले पर सख्त कदम उठाने के लिए एसडीएम और संबंधित थानों के एसओ के पेच कसे हैं। उन्होंने एसडीएम सैदपुर समेत एसओ खानपुर और एसओ बहरियाबाद को कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी कर धर्म प्रचारक गुड्डू राम को हिरासत में लिया है। वहीं दूसरी ओर पुलिस की कार्रवाई के बाद लोग घर छोड़कर भूमिगत हो गए हैं। 

गाजीपुर के जिलाधिकारी के. बालाजी के अनुसार, खानपुर और बहरियाबाद में कई परिवारों के धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है। उनके प्रार्थना सभाओं में जाने की प्रशासन की टीम जांच कर रही है। थानों के एसओ को दबिश देकर दोषियों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए हैं। उन सभी के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।  

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad