गाजीपुर: गाजीपुर में शीघ्र होगी सेना की भर्ती– ब्रिगेडियर एचएएल बंसल - Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: गाजीपुर में शीघ्र होगी सेना की भर्ती– ब्रिगेडियर एचएएल बंसल

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर दुल्लहपुर परमवीर चक्र विजेता वीर अब्दुल हमीद के 53 वें शहादत दिवस पर ब्रिगेडियर एचएएल बंसल ने कहां की आज मैं इस धरती पर आकर धन्य हो गया हूं यह धरती वीर सपूतों की धरती है अब्दुल हमीद एक ऐसे जांबाज थे जिन्होंने अपने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की भी आहुति दे दी 21 वर्ष की अवस्था में ही उन्होंने आर्मी जॉइन कर ली चीन के विरुद्ध पहली बार 1962 में युद्ध के मैदान में चीन के विरुद्ध युद्ध लड़े तथा दूसरी बार 1965 में भारत-पाकिस्तान के विरुद्ध युद्ध में अमेरिका द्वारा निर्मित पैटन टैंकों आरसीएल गन द्वारा युद्ध करते हुए युद्ध भूमि में ही शहीद हो गए आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत द्वारा भेजे गए पत्र को पढ़ा उन्होंने जिसमें लिखा था कि इस पावन भूमि को प्रणाम करता हूं तथा शहीद की पत्नी रसूलन बीबी को हमारी ओर से चरण स्पर्श तथा पत्र में यह भी लिखा था कि पूर्व में मैंने कहा था कि गाजीपुर के बच्चों को आर्मी स्कूल में शिक्षा मिलेगी जिसमें 28 मई से 23 जून तक दाखिला भी दिया गया उनकी शहादत इतिहास के पन्नों में अमर हो गई है तथा उनकी शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकता भुलाया नहीं जा सकता तथा 2019 से पहले गाजीपुर के लिए स्पेशल भर्ती कराई जाएगी.

इसके पूर्व शहीद की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर गार्ड ऑफ ऑनर लिए इसके बाद मंच पर चढ़कर रसूलन बीबी का पैर छूकर आशीर्वाद लिया वही राज्यसभा सांसद अमर सिंह सभा स्थल पर पहुंचे पहुंचने के उपरांत शहीद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया माल्यार्पण के उपरांत सीधे मंच पर गए एवं लोगों का अभिवादन स्वीकार किया शहीद के पौत्र जमील आलम ने उन्हें बैच लगाकर सम्मानित किया राज्यसभा सांसद अमर सिंह मंच से संबोधित करते हुए कहा कि या पावन धरती किसी तीर्थ स्थान से कम नहीं है इसका स्थान अयोध्या काशी रामेश्वर से थोड़ा भी कम नहीं है उन्होंने कहा कि शहीदों के मजार पर लगेंगे हर वर्ष मेले राज्यसभा सांसद जी का कहना था कि अब्दुल हमीद मरे नहीं है जो हजारों लोगों के दिलों में आज भी जिंदा है वह मरा नहीं वह जात के मुसलमान होते हुए भी क्षत्रिय है इस देश की रक्षा के लिए लड़े वह छतरी कहा जाता है राजनीतिक चर्चा करते हुए कहा कि इसके पहले मैं रामपुर गया था वहां भी देखा और आज मैं गाजीपुर में आया हूं यहां भी देख रहा हूं जो आज गाजीपुर के नौजवान देश की रक्षा के लिए मर मिटने को तैयार है किसी पार्टी का नाम न लेते हुए उन्होंने कहा कि गाजीपुर के कद्दावर नेता ओमप्रकाश सिंह राजा भैया ऐसे लोगों को पार्टी से निकालना और पार्टी में पुनः वापस लेना यह हमारा संविधान नहीं समझाता वह भी जो शुरू से पार्टी के लिए कार्य किया हो उसे ऐसा मंत्रालय दिया जाए जो भूमि पढ़ती हो शादाब फातिमा की भी छुट्टी हो गई नारद राय की भी छुट्टी हो गई. 

पिछली सरकार ने ही जो भी अच्छे विभाग थे वह सभी यादवों को दिए गए हैं स्वाभिमान संस्कार शिक्षा जीवन की सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है मैं संसद के माध्यम से प्रधानमंत्री जी एवं गृह मंत्री राजनाथ सिंह से शहीद अब्दुल हमीद धाम धामपुर के विकास के लिए बात करूंगा मैं कुछ कहूंगा नहीं लेकिन प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जी से कह कर इसे विकास की ओर ले जाऊंगा पूर्व सांसद अफजाल अंसारी ने भी शहीद की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए एवं शहीद को नमन किया नेहरू युवा गाजीपुर की ओर से स्वागत गीत एवं देश भक्ति गीत का मंचन किया गया कार्यक्रम में उप जिलाधिकारी जखनियां ग्राम प्रधान जनार्दन यादव विनोद चौहान डॉ राजेश कुमार पांडे सुकानु राम दिनेश मौर्या सुखारी राम जिला पंचायत सदस्य प्रतिमा सिंह रामाशीष सिंह सहित गणमान्य लोग मौजूद थे कार्यक्रम की अध्यक्षता शहीद अब्दुल हमीद की पत्नी रसूलन बीबी ने किया एवं कार्यक्रम का संचालन बृज भूषण पांडे ने किया।

No comments:

Post a Comment

योगदान करें!

सत्ता को आइना दिखाने वाली गाजीपुर समाचार पत्रकारिता जो राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. योगदान करें.

Donate Now
तत्काल दान करने के लिए, "Donate Now" बटन पर क्लिक करें।



Post Top Ad