Indian Army भर्ती में कम लंबाई वालों को नहीं होना पड़ेगा निराश, घटे लंबाई मापदंड - Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

Indian Army भर्ती में कम लंबाई वालों को नहीं होना पड़ेगा निराश, घटे लंबाई मापदंड

 भारतीय सेना में युवाओं की लंबाई को लेकर बड़ा बदलाव, मिलेंगे और मौके।
लखनऊ. भारतीय सेना (Indian Army) में कम लंबाई के लिए की वजह से नाप के दौरान ही बाहर कर दिए जाने वाले युवाओं के लिए खुशखबरी है। भारतीय सेना ने भर्ती में न्यूनतम लंबाई के मापदंडों में बड़ा फेरबदल कर अभ्यर्थियों को बड़ी राहत दी है। इसके तहत न्यूनतम लंबाई को 166 सेमी से घटाकर 163 सेमी कर दिया गया है।

सेना में अभ्यर्थियों की संख्या में बढ़ोत्तरी
भारतीय सेना ने भर्ती के दौरान न्यूनतम लंबाई के मापदंड़ों में बदलवाल हिलायल क्षेत्रों के लिए किया है। इस बदलाव से सेना में भर्ती के लिए अप्लाई करने वाले जवानों में केवल उत्तराखंड में ही 30 प्रतिशत की वृद्धि सामने आई है। जानकारी के मुताबिक न्यूनतम लंबाई 166 सेमी से घटाकर 163 सेमी करने के मापदंड़ों पश्चिमी हिमालय क्षेत्र के जम्मू और कश्मीर , हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड (गढवाल व कुमाऊं) में अगस्त से लागू हो चुका है। इसका असर वर्तमान में यह देखने को मिल रहा है कि पूर्व में लंबाई की वज़ह से रिजेक्ट हुए अभ्यर्थियों के दोबारा पूर्व भर्ती प्रशिक्षण शिविर में काफी संख्या में आ रहे हैं।

30 से 70 प्रतिशत तक वृद्धि की संभावना
उत्तराखंड में पूर्व भर्ती प्रशिक्षण शिविर चलाने वाले कई ऑर्गनाइजर का मानना है कि भारतीय सेना में लंबाई मापदंड घटने के बाद अगस्त से सितंबर के मध्य 30 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है। हालांकि अभी भी हिमालय क्षेत्रों में युवाओं को लंबाई मापदंड घटने की सूचना नहीं है। ऐसे में आने वाले दिनों में यह आकड़ा 70 प्रतिशत तक पहुंच सकता है।

मार्च 2018 में भर्ती
जानकारी के मुताबिक भारतीय सेना साल में दो बार भर्ती प्रक्रिया चलाती है। अगली भर्ती प्रक्रिया की शुरुवात आगामी मार्च या अप्रैल 2018 में होगी। इसमें उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमौली और टिहरी के काफी युवाओं के अप्लाई करने की संभावनाएं हैं।

No comments:

Post a Comment

योगदान करें!

सत्ता को आइना दिखाने वाली गाजीपुर समाचार पत्रकारिता जो राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. योगदान करें.

Donate Now
तत्काल दान करने के लिए, "Donate Now" बटन पर क्लिक करें।



Post Top Ad