Breaking News

मुन्ना बजरंगी हत्याकांड: सीबीआई अदालत में हो रही थी विडियो कांफ्रेन्सिंग से सुनवाई तो बागपत कोर्ट में यह सुविधा क्यो नही

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर लखनऊ माफिया डान मुन्ना बजरंगी अब पंचतत्व में विलिन हो गये हैं। उनकी हत्या के पीछे रहस्यों का पर्दा धीरे-धीरे परत-दर-परत उठने लगा है। सबसे बड़ा सवाल यह सामने आया है कि जब सीबीआई अदालत ने विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मुन्ना बजरंगी कोर्ट के कार्रवाई में भाग लेता था तो बागपत के कोर्ट में यह सुविधा क्यों नही उपलबध करायी गयी। जबकि मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह व उनके अधिवक्ता ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर कहा कि वह बागपत जेल मंं आने में असमर्थ हैं, बीमार है। बागपत जेल में उनकी जान को खतरा है। इसके बावजूद उन्हे जबरदस्ती झांसी जेल से बागपत जेल भेजा गया। जहां पर स्पेशल सेल में उन्हे सुनील राठी के साथ रखा गया। हत्या करने के अंदाज से यह पता चलता है कि हत्यारा बखौफ होकर गोली मार रहा था और हत्याकांड की फोटो मोबाइल से वायरल कर रहा था। इससे प्रतीत होता है कि हत्यारे को सुरक्षा की पूरी गांरटी थी। पहला फोटो वायरल हुआ जिसमे छाती में गोली नही लगी थी, इसके बाद हत्यारे में छाती में गोली मारकर दोबारा फोटा वायरल किया। इस संबंध में प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने बताया कि फोटो वायरल का मामला संज्ञान में है इसकी जांच चल रही है। पूरे प्रदेश में एक ही बात की चर्चा है कि पत्नी सीमा सिंह ने दस दिन पहले पत्रकार वार्ता में जिस घटना का अंदेशा जाहिर किया था वही सत्य–प्रतिशत घटना घट गयी। हत्याकांड के पीछे अपराधियों, पुलिस व सफेदपोशों का षडयंत्र है।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();