गाजीपुर: अब स्कूल में ही बनेगा नौनिहालों का आधार कार्ड - Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: अब स्कूल में ही बनेगा नौनिहालों का आधार कार्ड

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर परिषदीय स्कूलों में अब बच्चों के प्रवेश लेने में आधार कार्ड बाधक नहीं बनेगा। अब बीआरसी केंद्र पर ही बच्चों के आधार कार्ड बनाए जाएंगे। इसके लिए शासन से जिले को 32 आधार नामांकन किट प्राप्त हो गई है। प्रत्येक ब्लाक में दो-दो किट भेजी जानी है। इसके चलते आधार कार्ड बनवाने के लिए बच्चों को लेकर परिजनों को भटकना नहीं पड़ेगा। आवश्यकता पड़ने पर स्कूलवार कैंप लगाकर पंजीकृत बच्चों के आधार कार्ड बनाए जाएंगे।

परिषदीय विद्यालयों में नामांकन को लेकर काफी खेल चलता है। एक ही बच्चे का नामांकन परिषदीय विद्यालय में होने के साथ निजी स्कूलों में करवा दिया जाता है। इससे शासन की ओर से दी जा रही सरकारी सुविधाओं का लाभ वे परिषदीय स्कूलों से लेते हैं और पढ़ने के लिए निजी विद्यालय में जाते हैं। इसके चलते सरकारी स्कूलों में नामांकन तो बड़ी संख्या में होता है लेकिन बच्चों की उपस्थिति आधे से भी कम होती है। इसके लिए अभिभावकों से बार-बार अपने बच्चों का आधार कार्ड बनवाने को कहा जाता है लेकिन वह बनवा नहीं पाते हैं। वर्तमान में आधार कार्ड बनवाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। 

जिले में सिर्फ दर्जन भर सेंटरों पर ही आधार कार्ड बनाए जा रहे हैं, वह भी सीमित मात्रा में। ऐसे में सभी बच्चों का आधार कार्ड बनवाना संभव नहीं हो पा रहा था। इसको देखते हुए शासन ने यह व्यवस्था की है ताकि बच्चों और अभिभावकों को कोई परेशानी न झेलनी पड़े। इसके तहत स्कूल में प्रवेश लेने के लिए जिन बच्चों के पास आधार कार्ड नहीं होगा अब वह बीआरसी पर जाकर आधार कार्ड बनवा सकेंगे। इतना ही नहीं बीआरसी केंद्रों पर आधार कार्ड बनाने के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। शासन से बच्चों के आधार कार्ड बनवाने के लिए नामांकन किट मिल गई है। बीआरसी पर आधार कार्ड बनवाने की शुरुआत जल्द कर दी जाएगी और इसके लिए तैयारी शुरू हो गई है।

प्रेरणा एप के लिए होगा सहायक
प्रदेश सरकार ने परिषदीय विद्यालयों की मानीटरिग के लिए प्रेरणा एप लागू किया है। इसके आधार पर विद्यालय के सभी क्रिया-कलापों की आनलाइन रिपोर्टिंग करनी है। इसको बच्चों की उपस्थिति-अनुपस्थिति से भी जोड़ा गया है। ऐसे में सभी बच्चों का आधार कार्ड होना अनिवार्य है। इससे प्रेरणा एप का संचालन और आसान होगा। -

परिषदीय विद्यालय के बच्चों को आधार कार्ड अब विभागीय स्तर पर बीआरसी पर ही बनाया जाएगा। जरूरत पड़ने पर स्कूलवार कैंप भी लगाया जाएगा। इसके लिए शासन से 32 आधार कार्ड बनाने की किट प्राप्त हुई है। इसकी तैयारी की जा रही है। श्रवण कुमार, बीएसए।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad