Breaking News

ग़ाज़ीपुर: हमीद सेतु से गुजरते ओवरलोडेड वाहन पुलिस की कार्यप्रणाली पर खड़े कर रहे सवाल

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर हमीद सेतु की वर्तमान भार क्षमता को देखते हुए जिलाधिकारी के द्वारा पुल की मरम्मत एवं विभागीय इंजीनियरों के द्वारा निर्धारित वाहन लोड क्षमता की संस्तुति के बाद सेतु को किसी भी संम्भावित दुर्घटनाओं से बचाने एवं अनवरत वाहनों के सुरक्षित आवागमन को बनाए रखने के लिए संम्बन्धित थानों को कडी हिदायत दी थी कि किसी सूरत में ओवरलोड वाहन पुल से न गुजरे। बावजूद इसके संख्त हिदायत दरकिनार कर पुल के करीबी पुलिस चौकियां आदेश ताक पर रख दिन/रात में ओवरलोड वाहनों का धडल्ले से संचालन करा रही है । जिसके कारण पुल के अस्तित्व पर खतरा मडराने लगा है। लोगों का कहना है कि अगर यही स्थिति बनी रही तो भविष्य में पुल दोबारा क्षतिग्रस्त होने के साथ ही कोई बडी दुर्घटना हो सकती है। 

क्षेत्रीय लोगो ने कहा कि ऐसे पुलिस कर्मियों जो अपने ड्यूटी के प्रति लापरवाह बने है उनके खिलाफ जांच कर कडी कार्यवाही की जाए ।जिस तरह से ओवरलोड वाहनों का संचालन बदस्तूर जारी है उससे हमीद सेतु के क्षतिग्रस्त होने की संम्भावना काफी बढ गई है। पुल की मरम्मत के लिए गुजरात से आए इंजीनियरों के मुताबिक पुल की वर्तमान भार क्षमता 25 टन से 35 टन लेकिन इसके ज्यादा भार क्षमता वाले वाहनो के एक साथ गुजरने पर पुल को कभी भी खतरा उत्पन्न हो सकता है ।वहीं परिवहन विभाग भी ओवरलोड वाहनों पर कार्यवाही के नाम पर महज खाना पूर्ति कर अपने कार्यों की इतिश्री कर रहा है ।

ट्रक चालकों ने कहा कि रजागंज पुलिस को महज सुविधा शुल्क दिजिए चाहें जितना ओवरलोड वाहनों कभी भी विशेषकर रात्रि के पहर या भोर में धडल्ले से लेकर जा सकते है । जिलाधिकारी ने इसको लेकर थाना गहमर, रेवतीपुर को सख्त हिदायत दी थी कि बिहार की तरफ से किसी भी तरह से ओवरलोड. वाहनों का आवागमन नहीं होना चाहिए लेकिन गहमर पुलिस एवं रेवतीपुर पुलिस की उदासीनता के कारण ही दो दिन पूर्व रेवतीपुर के पास मुख्य सीसी रोड एवं पुलिया धवस्त हो गई। इस मामलें में पुलिस अधीक्षक डा0 अरविन्द चतुर्वेदी ने कहा कि पुल से ओवरलोड वाहन किसी सूरत में नहीं गुजरने दिया जायेगा। अगर ऐसा है तो संम्बन्धित के खिलाफ जांचोपरांत दोषी पाए जाने पर कडी कार्यवाही की जायेगी ।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();