गाजीपुर: मनोज सिन्हा फिर गाजीपुर से मैदान में, सातवीं बार भाजपा ने जताया विश्वास - Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | गाजीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: मनोज सिन्हा फिर गाजीपुर से मैदान में, सातवीं बार भाजपा ने जताया विश्वास

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर केंद्र सरकार में मंत्री मनोज सिन्हा पर भाजपा ने फिर विश्वास जताया है। तमाम अटकलों के बाद मंगलवार को पार्टी आलाकमान ने उन्हें गाजीपुर संसदीय सीट से प्रत्याशी घोषित कर दिया। इस हाईप्रोफाइल सीट से वे सातवीं बार ताल ठोकेंगे। छह बार चुनावी समर में उतर चुके मनोज सिन्हा ने तीन बार जीत दर्ज कर सांसद बन चुके हैं। 60 साल के मनोज सिन्हा ने सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री हासिल की है। हलफनामे के अनुसार वह सामाजिक कार्यकर्ता और किसान हैं। 

मनोज सिन्हा पहली बार 1996 में सांसद चुने गए। इसके बाद 1999 और 2014 में भी चुनाव जीतने में कामयाब रहे। उन्हें 3 बार (1991, 1998 और 2004) चुनाव में हार भी मिली। 2014 के लोकसभा चुनाव में मनोज सिन्हा ने सपा की प्रत्याशी शिवकन्या कुशवाहा को 32,452 मतों के अंतर से हराया था। चुनावी समर में 18 उम्मीदवार थे जिसमें मनोज सिन्हा को 31.11 फीसदी यानी 3,06,929 वोट मिले जबकि दूसरे स्थान पर रही शिवकन्या को 2,74,477 (27.82 फीसदी) वोट हासिल हुए थे। वहीं 2009 के लोकसभा चुनाव में सपा के राधे मोहन सिंह ने बसपा के अफजल अंसारी को हराया था। अफजल अंसारी ने 2004 के चुनाव में समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था और विजयी रहे थे। 


मोदी के महत्वपूर्ण मंत्रियों में गिने जाते हैं सिन्हा 
मनोज सिन्हा केंद्र में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने और उनके मंत्रिमंडल के ऐलान होने के बाद से ही मंत्री हैं। वे सरकार में बतौर मंत्री सांसदों के सवालों का जवाब देने के लिए मौजूद होते हैं। ऐसे में उन्हें बतौर मंत्री संसद के दोनों सदनों में मौजूद होना पड़ता है, इसलिए बतौर मंत्री उन्हें उपस्थिति रजिस्टर पर अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं करानी होती है और न ही सदन की कार्यवाही के दौरान कोई सवाल पूछते हैं और न ही किसी तरह का निजी बिल भी पेश करते हैं। 


पार्टी और सरकार में सक्रियता 
1989 से राष्ट्रीय परिषद, भारतीय जनता पार्टी, के सदस्य हैं। 
1996 में 11वीं लोक सभा के लिए निर्वाचित हुए। 
1999 में 13वीं लोक सभा के लिए दूसरी बार निर्वाचित हुए। 
1999 से 2000 तक ऊर्जा, संबंधी स्थायी समिति के सदस्य रहे। उसी दौरान सरकारी आश्वासनों संबंधी समिति के सदस्य भी रहे। 
मई 2014 में 16वीं लोकसभा के लिए तीसरी बार निर्वाचित हुए। 
27 मई 2014 से रेल मंत्रालय में केन्द्रीय राज्य मंत्री हैं। .

मनोज सिन्हा, सांसद - 2014
जन्मतिथि 1 जुलाई 1959
पद रेलवे और संचार राज्यमंत्री
परिवार  पत्नी नीलम सिन्हा, एक बेटा एक बेटी
शिक्षा बी टेक सिविल इंजीनियर
संपत्ति 2.33 करोड़

व्यवसाय कृषि
पति/पत्नी का व्यवसाय बिज़नेस

सोशल मीडिया पर भी सक्रिय
मनोज सिन्हा सोशल मीडिया पर भी सक्रिय रहते हैं। फेसबुक व ट्विटर पर वह लगातर पोस्ट व ट्वीट करते रहते हैं। अपनी योजनाओं, कार्यों व तैयारियों की सूचनाएं अपडेट करते रहते हैं। फिलहाल फेसबुक व ट्विटर पर हजारों की संख्या में उनके फालोअर हैं। 

सांसद आदर्श गांव
1- शंकरसिंह दुल्लहपुर (जखनियां)
2- देवा (जखनियां)
3- नायकडीह (सैदपुर)
4- करहिया (भदौरा)
5- जमुआंव उपरवार (करंडा)

No comments:

Post a Comment

योगदान करें!

सत्ता को आइना दिखाने वाली गाजीपुर समाचार पत्रकारिता जो राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. योगदान करें.

Donate Now
तत्काल दान करने के लिए, "Donate Now" बटन पर क्लिक करें।



Post Top Ad