Breaking News

गाजीपुर: प्रेमी संग पकड़े जाने पर महिला शिक्षक लगा ली थी फांसी

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर दुल्लहपुर दो माह पूर्व महिला शिक्षक सरिता के मौत के मामला में मंगलवार को नया मोड़ आ गया। मामले की विवेचना हुई तो पता चला कि प्रेमी संग आपत्तिजनक स्थिति में पति ने पकड़ा तो उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पूरा मामला खुलने के बाद पुलिस आरोपित प्रेमी को यशवंत भारती को थाने में पूछताछ के बहाने बुलाया और गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

पुलिस के अनुसार 2015 में आजमगढ़ जनपद के बिलरियागंज निवासी सरिता व मऊ के मुहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के शहाबुद्दीनपुर निवासी यशवंत भारती प्राथमिक विद्यालय देवा में तैनात हुए। स्कूल में ही दोनों में प्यार हो गया और जलालाबाद मोड़ पर किराये पर मकान लेकर दोनों एक साथ रहने लगे। कुछ ही दिनों में दोनों के संबंधों की चर्चा शुरू हो गई। उड़ीसा केंद्रीय विद्यालय में तैनात सरिता के पति विवेक को इसकी जानकारी हुई तो वह गाजीपुर स्थित केंद्रीय विद्यालय में तबादला करवाकर पत्नी के साथ रहने लगा। 

सरिता के पति के साथ रहने पर यशवंत बौखला गया। वह भी उनके ही मकान के सामने किराये पर कमरा लेकर रहने लगा। 12 मई को विवेक लोकसभा चुनाव के लिए वोट डालने के लिए गांव जाने लगे। जलालाबाद चौराहा पर बस पकड़ने गए तो मौका पाकर प्रेमी यशवंत घर में घुस गया। विवेक की बस छूट गई और वह घर आए तो पत्नी व उसके प्रेमी को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिए। डांट फटकार के बाद वह दूसरा वाहन पकड़कर गांव चले गए। प्रेमी के साथ रंगेहाथ पकड़े जाने पर सरिता ने रात के पहर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

विवेक को फंसाने के लिए उकसाने लगा था यशवंत
प्रेमिका की आत्महत्या के बाद प्रेमी यशवंत ने सरिता के मायके वालों को विवेक के प्रति मुकदमा दर्ज कराने के लिए उकसाने लगा था। जब इसकी जानकारी विवेक को हुई तो वह थाने पहुंचे और पूरे मामले से पुलिस को अवगत कराने के साथ ही यशवंत के विरूद्ध तहरीर दी। पुलिस मामले की जांच की तो पूरा मामला सामने आ गया।

प्रेमी को भेजा गया जेल
प्रेमी के साथ पति ने पकड़ लिया तो महिला शिक्षक सरिता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। यह बात विवेचना में सामने आई। आरोपित प्रेमी यशवंत को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।-राजेश त्रिपाठी, थानाध्यक्ष दुल्लहपुर।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();