गाजीपुर: पालतू कुत्तों ने जान देकर मालिक के बच्चे को बचाया - Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: पालतू कुत्तों ने जान देकर मालिक के बच्चे को बचाया

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर जखनियां में दो पालतू कुत्तों ने एक बच्चे की जान बचा ली। हालांकि दोनों कुत्तों की मौके पर ही मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल बच्चे को डॉक्टरों ने ट्रामासेंटर वाराणसी रेफर कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार, जखनियां  ब्लाक के भुड़कुड़ा गांव निवासी श्रीराम यादव का डिग्री कालेज के ठीक पीछे मकान है। यहां श्रीराम अपने परिवार के साथ रहता है। उनके घर के पास से हाईटेंशन लाइन गुजरी है। सोमवार की शाम पांच बजे उनका छोटा बेटा प्रिंस यादव (10) घर से बाहर निकल रहा था, तभी उसपर 11 हजार का हाईटेंशन लाइन का तार टूट कर गिर पड़ा। हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से प्रिंस को तेज करंट लगा। यह देख दोनों पालतू कुत्ते झपटे और तार को बच्चे के शरीर से अलग कर दिया। 

बच्चे को बचाने में अपनी जान गंवाई
हादसे में करंट लगने से प्रिंस करीब 25 फीसदी झुलस गया। लेकिन प्रिंस बच गया। लेकिन अपने मालिक के एहसान को चुकाने में दोनों कुत्तों को अपनी जान गंवानी पड़ी। प्रत्यक्षदर्शी शंभू त्रिपाठी, संतोष जायसवाल, पप्पू जायसवाल और संजय सिंह का कहना है कि दोनों पालतू कुत्ते मकान के बाहर ही रहते थे। दोनों ने अपनी जान देकर घर के बच्चे की जान बचा ली। 

25 फीसदी झुलसा बच्चा
करंट की चपेट में आए प्रिंस को गांव के लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जखनियां लेकर गए। सीएचसी के डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद हालत नाजुक होने की वजह से बच्चे को ट्रामा सेंटर वाराणसी रेफर कर दिया। डॉक्टरों के अनुसार करंट से प्रिंस 25 फीसदी झुलस गया है। अभी तक उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। 

लोगों में आक्रोश
हाईटेंशन लाइन टूट कर गिरने से ग्रामीणों में आक्रोश है। लोगों का कहना है कि बिजली विभाग के लापरवाही से आए दिन दुर्घटना हो रही हैं। क्षेत्र में लगे 11 हजार वोल्टेज के तार पहले से ही जर्जर हो चुके हैं। खंभे पर लगी लकड़ियां भी सड़ चुकी हैं, लेकिन विभाग अभी तक उसे बदलने की कोई कोशिश नहीं कर रहा है। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad