Breaking News

गाजीपुर: लेखपाल का अपहृत बेटा दूसरे दिन दिल्ली रेलवे स्टेशन पर मिला

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर जंगीपुर लेखपाल का अपहृत बेटा दूसरे दिन गुरुवार की सुबह दिल्ली रेलवे स्टेशन पर मिला। इस खबर से जहां घरवाले सुकून महसूस कर रहे हैं, वहीं जंगीपुर पुलिस भी राहत की सांस ली है। हालांकि अपहरण की कहानी पर किसी को यकीन नहीं हो रहा है। जंगीपुर बाजार के वार्ड छह (सरस्वती नगर) का रहने वाले अजय कुमार चकबंदी लेखपाल हैं। वह हंड़िया(इलाहाबाद) में तैनात हैं। उनका 14 वर्षीय बेटा सरदार बुधवार की शाम करीब पांच बजे घर का सामान खरीदने बाजार के लिए निकला था। काफी देर बाद जब वह नहीं लौटा तब घरवालों को चिंता हुई। उसकी तलाश शुरू हुई पर उसका कोई सुराग नहीं मिला। रात करीब 12 बजे घरवाले जंगीपुर थाने पर पहुंचे। गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराए।

सुबह फोन की घंटी बजी। उधर से सरदार की आवाज थी। बताया कि वह दिल्ली रेलवे स्टेशन से बोल रहा है। जब वह घर से बाजार में पहुंचा था कि चार पहिया वाहन सवार बदमाशों ने उसका अपहरण कर लिया। उसके बाद बदमाश उसे गाजीपुर सिटी स्टेशन पर ले गए। फिर ट्रेन से उसे वाराणसी ले गए। वाराणसी स्टेशन पर ट्रेन पहुंची ही थी कि बदमाशों को नींद आ गई। मौका देख कर सरदार उनके चंगुल से निकला और अपनी समझ से गाजीपुर जाने वाली ट्रेन पर बैठ गया, लेकिन वह ट्रेन सुबह दिल्ली पहुंची।

दिल्ली स्टेशन पर उतर कर सरदार रोने लगा। उसे देख एक व्यक्ति को दया आ गई। सरदार की आप बीती सुन कर वह व्यक्ति अपने फोन से सरदार के घऱ फोन लगाया। उसके बाद घरवाले दिल्ली में रहने वाले अपने एक करीबी को सरदार के पास भेजे। उधर एसओ जंगीपुर ने कहा कि अपहरण के कथित घटनाक्रम पर यकीन नहीं हो रहा है। बालक के लौटने पर हकीकत सामने आएगी। सरदार कक्षा आठ का छात्र है।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();