Breaking News

गाजीपुर: रुक-रुककर हो रही बारिश बनी आफत

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर लगातार चार दिनों से  रुक-रुककर हो रही बारिश अब आफत बनने लगी है। नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में जहां पुराने मकान गिरने के कगार पर पहुंच गए हैं। वहीं जर्जर दीवारें भी गिरना शुरू हो गई। मुहम्मदाबाद क्षेत्र में एक दीवार भरभराकर गिर पड़ी। संयोग अच्छा था कि वहां कोई नहीं था अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था।

सुबह से ही आसमान पर छाए बादल बारिश की संभावना बनाए हुए थे। दोपहर बाद अचानक तेज बारिश हुई जिससे चारो ओर जलजमाव हो गया। मुहम्मदाबाद : बारिश से भीग चुकी शंकर कोल्ड स्टोरेज परिसर की करीब 25 मीटर चहारदीवारी दोपहर करीब 1.30 बजे अचानक भरभरा कर धराशायी हो गई। संयोग अच्छा था कि दीवार जिस तरफ गिरी उसके दूसरी ओर काफी संख्या में लोग बैठे हुए थे। दूसरी ओर सिवानों में धान की रोपाई का कार्य जोरशोर से चल रहा है। एकाएक सबकी रोपाई का कार्य शुरू होने से मजदूरों की किल्लत हो गई है। बारा: क्षेत्र में बारिश के कारण सड़कों पर जलजमाव होने से आवागमन में परेशानी हो रही है।

निर्माणाधीन नाली गिरी , खुली नपं की पोल

जंगीपुर : प्राथमिक विद्यालय में जलजमाव होने से बच्चों को पठन-पाठन में काफी परेशानी हो रही है। वहीं नगर पंचायत की पानी निकासी के लिए बन रही नाली बारिश का पहला झटका भी नहीं झेल सकी। तीन दिनों से हो रही बारिश के चलते मंगलवार की रात निर्माणाधीन नाली गिर गई। इससे नगर पंचायत द्वारा कराए जा रहे घटिया निर्माण की पोल खुल गई है। नगरवासी इसको लेकर तरह-तरह के सवाल उठा रहे हैं। जल जमाव की समस्या से जूझ रहे परिषदीय विद्यालय

मुहम्मदाबाद : शासन की ओर से परिषदीय विद्यालयों की शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए काफी धनराशि खर्च की जा रही है, बावजूद व्यवस्था बद से बदतर ही होती दिख रही है। लाखों रुपए खर्च कर बच्चों को पढ़ाने के लिए भवन तैयार किया जा रहा है लेकिन परिसर से जल निकासी की व्यवस्था न होने से विद्यालयों में जल-जमाव के चलते पठन-पाठन बाधित हो रहा है। मुख्यालय स्थित बीआरसी परिसर के साथ साथ प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय, प्राथमिक विद्यालय कबीरहा, नोनहरा, पूर्व माध्यमिक विद्यालय शहबाजकूली, प्राथमिक विद्यालय लालूपुर बाड़, तमलपुरा द्वितीय, महरुपुर, नसीरपुर कुसुम के अलावा भांवरकोल शिक्षा क्षेत्र अंतर्गत बीआरसी, पूर्व माध्यमिक विद्यालय भांवरकोल, प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय जसदेवपुर, चरखा, प्राथमिक विद्यालय लौवाडीह, मलिकपुरा, आराजी बुढैला, पूर्व माध्यमिक विद्यालय सोनवानी, शिक्षा क्षेत्र बाराचवर के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय लट्ठूडीह, प्राथमिक विद्यालय फखनपुरा, महुवारी उर्फ अफलेपुर, कादीपुर, सद्दोपुर, असावर तथा पूर्व माध्यमिक विद्यालय कामूपुर, दुबिहा आदि में जल-जमाव की समस्या व्याप्त हो जा रही है। इसको लेकर अभिभावकों का कहना है कि शासन की ओर से विद्यालयों के रख-रखाव के लिए प्रत्येक वर्ष एक निश्चित रकम दी जाती है लेकिन उसका उपयोग कहां होता है, मालूम नहीं चल पाता। अगर परिसरों में मिट्टी गिराकर उन्हें ऊंचा कर देने व जल निकासी का रास्ता बना दिया जाता तो शायद बच्चों व शिक्षकों को इस समस्या से निजात मिल जाती।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();