गाजीपुर: ट्रांसफार्मर में कनेक्शन ही नहीं और बिल नौ-नौ हजार - Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: ट्रांसफार्मर में कनेक्शन ही नहीं और बिल नौ-नौ हजार

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर रेवतीपुर ब्लाक के कालूपुर गांव में दो वर्ष पूर्व घर-घर मीटर लगाकर कनेक्शन दे दिया गया, लेकिन ट्रांसफार्मर को जोड़ा ही नहीं गया। अब जिनके-जिनके घर मीटर लगा है उनके यहां एक ही बार नौ-नौ हजार रुपये का बिल भी आ गया है। इससे ग्रामीणों में खलबली मची हुई है। मामले में एक्सईएन का जवाब भी बड़ा अजीब है। उनका कहना है हमारे यहां जो रिपोर्ट है हर माह मीटर रीडर जाते हैं और रीड करते हैं। अब सवाल यह है कि जब मीटर में लाइट ही नहीं है तो मीटर रीडर, रीड क्या करते हैं।

वर्ष 2017 में बिजली विभाग द्वारा गांव-गांव में अलग से ट्रांसफार्मर और केबिल लगाकर घर-घर कनेक्शन देते हुए मीटर लगाया गया था। घर में मीटर लगाने के समय ही कर्मियों ने कनेक्शन भी दे दिया। ऐसा सिर्फ कालूपुर ही नहीं कई गांव है, जहां मीटर कनेक्शन दिया गया। कालूपुर गांव के पश्चिम और दक्षिण तरफ एक-एक ट्रांसफार्मर लगाया गया। एक ट्रांसफार्मर में कुछ दिनों तक बिजली भी आई, लेकिन बाद में बंद हो गई। वहीं एक में आज तक कनेक्शन ही नहीं दिया गया। ट्रांसफार्मर पर झाड़-झंखाड़ लग गया है। 

गांव में कई जगह आधा-अधूरा केबिल लगा कर छोड़ दिया गया है। इस योजना में कर्मी किस हद तक मनमानी किए हैं गांव को देखने के बाद स्वयं ही मालूम हो जाता है। अब गांव के कुल 32 लोगों के यहां नौ-नौ हजार का बिल आ गया है। किसी का 11 हजार का भी है। इतना भारी भरकम बिल देखकर ग्रामीणों का माथा चकरा गया। ग्राम प्रधान मनोज यादव ने बताया कि इस संबंध में हमने एक्सईएन से शिकायत की। उन्होंने आश्वासन दिया कि शीघ्र इसका समाधान कर दिया जाएगा, लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई। इससे ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। अब गांव के गरीब तबके के लोग काफी हैरान और परेशान हो गए हैं कि अब हम इस बिल की भरपाई कहां से और कैसे करेंगे।

गांव के लोग कहीं से न कहीं से बिजली का उपयोग कर रहे हैं, बिल तो देना ही पड़ेगा। जहां तक सवाल है ट्रांसफार्मर में कनेक्शन नहीं देने और एक ही बार नौ हजार हजार का बिल आने का तो इसकी जांच कराई जाएगी। शीघ्र ही इसे सही कराया जाएगा।
महेंद्र मिश्रा, अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड चतुर्थ जमानियां।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad