Breaking News

गाजीपुर: कृष्ण सुदामा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट में पौध रोपण कर मनाया गया सरदार पटेल का जन्मदिवस

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर सरदार पटेल की जयंती पर कृष्ण सुदामा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट में पौध रोपण किया गया और अपने अपने विचारों को रखा। अनुज कुमार यादव ने कहा कि देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्म आज से 144 साल पहले 31 अक्टूबर 1875 को गुजरात के नाडियाड में हुआ था। आजादी के बाद टुकड़ों में बिखरी 562 रियासतों को एकजुट करके उन्होंने ही एक भारत का निर्माण किया था। सरदार वल्लभ भाई पटेल ने 1948 में उप-प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे की पेशकश कर दी थी। कृष्ण सुदामा संस्थान के प्रिंसपल भगवान दास जी ने कहा कि 12 जनवरी, 1948 को उन्होंने महात्मा गांधी को इस संबंध में पत्र भी लिखा था, लेकिन बापू से मंजूरी नहीं मिली। 

इस्तीफा देते हुए उन्होंने गांधी जी को लिखा था, ‘काम का बोझ इतना अधिक है कि उसे उठाते हुए मैं दबा जा रहा हूं। मैं समझ चुका हूं कि अब और अधिक समय तक बोझ उठाने से देश का भला नहीं होगा, बल्कि इसके विपरीत देश का नुकसान होगा। बृजेश यादव ने कहा कि सुभाष चंद्र बोस के साथी थे पटेल के भाई: सरदार के बड़े भाई विठ्ठल भाई पटेल को काफी कम लोग जानते हैं। बताया जाता है कि शुरुआत में दोनों भाई कांग्रेस के दिग्गज नेता था, लेकिन बाद में विठ्ठल भाई पटेल ने सुभाष चंद्र बोस के साथ मिलकर गांधीजी के नेतृत्व पर सवाल उठाए थे। कहा जाता है कि विठ्ठल भाई ने अपनी संपत्ति का तीन चौथाई हिस्सा सुभाष चंद्र बोस को दे दिया था।  डॉ विजय कॉलेज ऑफ नर्सिग एवम् डॉ वन्दना कॉलेज ऑफ फार्मेसी के बच्चो ने सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान संतोष पांडेय, गौरव, जोमन जोश, आनंद, के साथ अनेक लोग उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();