गाजीपुर: फिर बढ़ने लगीं गंगा, अन्य नदियां उफान पर - Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Latest Ghazipur News in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, खेल समाचार, राजनीति न्यूज़, अपराध न्यूज़

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

गाजीपुर: फिर बढ़ने लगीं गंगा, अन्य नदियां उफान पर

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर एक बार फिर गंगा के बढ़ने तटवर्ती इलाकों के लोगों की धुकधुकी बढ़ने लगी है। बीते कई दिनों से घट रहा गंगा का जलस्तर सुबह छह बजे से एक सेंमी प्रति घंटे की रफ्तार से फिर बढ़ने लगा है। तीसरे पहर तीन बजे तक गंगा का जलस्तर 62.740 मीटर रिकार्ड किया गया। गनीमत यही है कि गंगा अभी भी खतरे के निशान से नीचे ही बह रही हैं। वहीं सहायक नदियों का कहर जारी रहने से किनारे बसे लोग पलायन की तैयारी शुरू कर दिए हैं। नदियों से सबसे ज्यादा प्रभावित सदर ब्लाक के रूहीपुर, मनिहारी का सरायगोकुल, चौरा, शादियाबाद व बहरियाबाद का इलाका है। नदी का पानी खेतों में लगने से धान, परवल की फसल को काफी नुकसान हुआ है।

बीते सप्ताह गंगा का जलस्तर घटने के बाद एक बार फिर बढ़ने से लोगों की बेचैनी बढ़ने लगी है। हालांकि जल आयोग बोर्ड कार्यालय के अनुसार बारिश के पानी से थोड़ा बढ़ाव जरूर हो रहा है लेकिन यह क्रम बहुत जल्द घटाव में बदल जाएगा। सिचाई विभाग के अधिशासी अभियंता राजेश कुमार ने बताया कि बीते दिनों हुई बारिश का जमा पानी आने से जलस्तर बढ़ने लगा है लेकिन यह ज्यादा देर तक नहीं चलेगा। इस वर्ष नदियां उफान पर आई तो 2005 की याद एकबार फिर ताजा हो गई जब वर्ष 2005 मंगई, बेसो व उदंती ने तबाही मचाया था। मनिहारी ब्लाक के बुजुर्ग सुक्खू, सुनील यादव, केदार व प्रभुनाथ का कहना है कि उस वक्त का दृश्य कभी नहीं भूला। नदियों के उफान पर आने से सैकड़ों बीघा परवल का पौधा व धान की फसल डूब गई है। कई घरों में तो पानी भी घुस गया है। मवेशियों के लिए चारा का संकट तो परिवार को सोने के लिए भी स्थान की तलाश करने पड़ रही है। कई गांवों में प्रशासनिक अधिकारियों के नहीं पहुंचने से ग्रामीणों में गुस्सा भी व्याप्त है।

बंद हो गया है आवागमन
नदियों का पानी भुतहियाताड़-बुजुर्गा मार्ग पर रूहीपुर गांव के पास आ जाने से आवागमन पूरी तरह ठप हो गया है। हंसराजपुर जाने के लिए लोगों को जंगीपुर से होते हुए जाना पड़ रहा है। वहीं बुजुर्गा से आगे पुल के पास पानी आने से लोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

तो आ जाएंगे भुखमरी की कगार पर
मेहनत-मजदूरी कर जीवन-यापन करने वाले लोगों को आवागमन बंद होने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वे घरों में कैद होकर रह गए हैं। अगर हालात कुछ दिनों तक ऐसे ही रहे तो उनका पूरा परिवार भुखमरी की कगार पर आ जाएगा।

सड़क टूटने से कैद हुए कई परिवार
खानपुर : थाना क्षेत्र के बहेरी में बरसाती पानी के बहाव में सड़क टूट जाने से सैकड़ों परिवारों का आवागमन ठप पड़ गया है। जिला पंचायत सदस्य रामबचन यादव ने वैकल्पिक व्यवस्था कर लोगों का आवागमन शुरू कराया। वहीं चंदवक औड़िहार सड़क मार्ग से बहेरी क्रॉसिग से होकर कलवारी राजहती कड़वा बेलहरी पकड़ी गांव को जाने वाली सड़क मार्ग पूरी तरह से कट कर पानी में बह गई। जिससे चार गांवों के सैकड़ों परिवार के लोग पूरी तरह गांव में कैद होकर रह गए।

पानी निकलवाने पहुंचे एसडीएम
गंगा के जलस्तर बढ़ने से रेवतीपुर समेत अन्य इलाकों में आई बाढ़ से स्थिति नारकीय हो गई है। जलस्तर तो काफी तेजी से घट रहा है मगर तटवर्ती इलाकों में आज भी बाढ़ का पानी भरा हुआ है। गुरुवार को नवली गांव में बाढ़ का पानी निकलवाने के लिए एसडीएम सेवराई विक्रम सिंह मातहतों संग पहुंचे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad