Breaking News

गाजीपुर: मंगई नदी की बाढ़ से घिरी वनवासी बस्ती में आज खुशी का माहौल

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर मंगई नदी की बाढ़ से घिरी वनवासी बस्ती में आज खुशी का माहौल था कोई घरों से उपले ला रहा है तो कोई जमीन बुहारने में व्यस्त था। महिलाएं बरगद के पत्ते लेकर पत्तल बना रही थी उधर देखते ही देखते आग का अहरा भी जल गया। उपले की आग में आलू बैगन टमाटर भूनने के साथ बट्टी सेकने का भी काम भी शुरू हो गया। आलू व बट्टी की सुगंध भी आ रही थी। शुक्रवार को जखनिया विकासखंड के विजहरा बनवासी बस्ती में सामाजिक संस्था समग्र विकास इंडिया के कार्यकर्ताओं ने पुरुष महिलाओं और बच्चों के साथ बट्टी चोखा का भोज किया। 

बनवासी परिवारों से बर्तन लाए गए जिसमें उन्हीं के द्वारा भोजन भी बनाया गया और सभी ने मिलकर चाव से बट्टी चोखा ग्रहण किया। समग्र विकास इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष ब्रज भूषण दुबे ने बताया कि जखनिया क्षेत्र के विजहरा बनवासी बस्ती को मंगई नदी का पानी चारों तरफ से घेर लिया है। कोई भी लोक सेवक वहां तक नहीं पहुंचा मिट्टी के चार मकान अब तक गिर चुके हैं। एक टीले पर लोग अपने घरों का सामान लेकर बच्चों के साथ रह रहे हैं। 

श्री दुबे ने कहा कि इस प्रकार बाढ़ में फंसे लोगों के साथ जहां हमने आत्मीय रिश्ता स्थापित किया वही समाज में अभी भी जकड़ी हुई छुआछूत पर भी एक हथौड़ा सहयोगियों सहित बजाने में सफलता प्राप्त हुई है। ब्रज भूषण दुबे ने लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि जो जहां है वहीं से बाढ़ में गिरे हुए लोगों की मदद करना शुरू कर दें हर काम सरकार के भरोसे छोड़ कर चुपचाप नहीं बैठा जा सकता। उक्त अवसर पर रोशनी बनवासी, पप्पू वनवासी, बृजेश कुमार पांडे (रिंकू) समग्र विकास इंडिया के व्याख्याता गुल्लू सिंह यादव, राजू राजभर, अखिलेश फोरमैन, मोहम्मद साद शेख, अमित कुमार गुप्ता, रविंद्र यादव आदि लोग उपस्थित थे। 

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();