Breaking News

गाजीपुर: रिश्वत लेने के आरोप में बिजली विभाग का अवर अभियंता निलंबित

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर रिश्वत के मामले में आरोपित सुहवल पावर हाउस के अवर अभियंता को अधीक्षण अभियंता ने निलंबित कर दिया है। पीड़ित उपभोक्ता ने बीते दिनों जनपद दौरे पर आए मुख्य अभियंता वाराणसी को इस संदर्भ में लिखित शिकायती पत्र दिया था। इसे लेकर चीफ़ इंजीनियर से मुलाकात की थी।

करीब एक सप्ताह पूर्व विद्युत विभाग वाराणसी के मुख्य अभियंता मनोज कुमार अग्रवाल विभागीय निरीक्षण के उद्देश्य से जिला मुख्यालय आये थे। उसी दौरान ग्रामीणों का एक प्रतिनिधिमंडल हिन्दू युवा वाहिनी के पूर्व जिलाध्यक्ष अक्षय राय दुर्गेश के नेतृत्व में मुख्य अभियंता से मिलकर लिखित शिकायती पत्र दी और अवर अभियंता संतोष मौर्या पर सब स्टेशन अंतर्गत सोनवल गांव निवासी अमिताभ बच्चन सिंह कुशवाहा पुत्र रामनारायण सिंह कुश्वाहा ने नया कनेक्शन के एवज में 50 हजार रुपये ना देने पर उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। उपभोक्ता ने इसपर कार्रवाई करने की मांग की थी। 

इससे खिन्न होकर अवर अभियन्ता ने जांच के नाम पर विजिलेन्स टीम को पीड़ित अमिताभ कुशवाहा के घर भेंजकर चार लाख रुपये बतौर जुर्माना भेजने का दबाव बनाये जाने का भी आरोप लगाया था। इन सभी आरोपों को मुख्य अभियंता वाराणसी ने गंभीरता से लिया और तीन सदस्यी जांच टीम बैठा दी थी। जांच के दौरान आरोप सही पाये जाने पर इसकी रिपोर्ट अधीक्षण अभियन्ता गाजीपुर को सौंपी दी थी। 

इसके आधार पर अवर अभियंता के खिलाफ कार्रवाई करते हुए निलंबित कर दिया गया। इस संबंध में अधीक्षण अभियन्ता विद्युत आनन्द शुक्ला ने बताया कि प्रथथ दृष्टया जांच में ताड़ीघाट विद्युत उपकेन्द्र पर तैनात अवर अभियन्ता संतोष कुमार मौर्या दोषी पाये गये हैं। इसपर तत्काल प्रभाव से उन्हें निलंबित कर दिया गया है। साथ ही उनके स्थान पर नए अवर अभियंता की तैनाती भी कर दी गयी है।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();