Breaking News

गाजीपुर: अलीशा पर दरिदों ने धारदार हथियार से किया था कई वार

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर गाजीपुर-आजमगढ़ मार्ग पर महमूदपुर के पास झाड़ी में मिले युवती के शव की शिनाख्त शनिवार की देर रात अलीशा इरफान निवासी नई कालोनी मुस्तफाबाद रजदेपुर के रूप में हुई। चेहरा पूरी तरह से क्षत-विक्षत होने के कारण परिजनों ने अलीशा की पहचान उसके कपड़े और ब्रेसलेट से की। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मालूम हुआ कि हत्यारों ने पकड़े जाने के डर से अलीशा के चेहरे पर एक दो नहीं बल्कि कई बार जोरदार वार किया है ताकि उसकी पहचान न हो सके।

बिरनो थाना क्षेत्र के महमूदपुर ढेबुआं के बीच शनिवार को सड़क किनारे झाड़ी में अ‌र्द्धनग्न अवस्था में युवती का शव देखकर ग्रामीणों ने इसकी सूचना थानाध्यक्ष को दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त के लिए उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की। तस्वीर देखकर सभी हतप्रभ हो जा रहे थे। तभी अलीशा के परिजनों की नजर शव पर पड़ी तो उन्होंने उसके हाथ के ब्रेसलेट को पहचान लिया। 

इसके बाद मुस्तफाबाद कालोनी में सनसनी फैल गई। परिजन आनन-फानन में बिरनो थाने पहुंचे। शव को देखते ही उसके कपड़े और ब्रेसलेट से पहचान लिया और दहाड़े मारकर रोने-बिलखने लगे। पुलिस ने परिजनों का ढांढस बंधाते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। परिजनों ने बताया कि अलीशा मुखराम महाविद्यालय रुहीपुर में बीटीसी की छात्रा थी। वह शुक्रवार की सुबह कालेज जाने के लिए घर से निकली लेकिन लौट कर नहीं आयी।

हत्या के संबंध में पुलिस को मिला 'क्लू'
एसपी डा. अरविद चतुर्वेदी के अनुसार शव मिलने के बाद ही इसके पर्दाफाश के लिए टीम गठित कर दी गई थी। पुलिस की जांच पड़ताल में अहम क्लू हाथ लगा है। जल्द ही हत्यारों को पकड़ लिया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();