Breaking News

पुलिस कमिश्नरी बनने के बाद लखनऊ में बढ़ी दरोगाओं की फौज, अयोध्या रेंज से 89 SI बुलाए जा रहे

बता दें इन 89 दरोगाओं में अयोध्या के 19, अंबेडकरनगर के 14, अमेठी के 17, बाराबंकी के 25 और सुल्तानपुर के 14 दारोगा शामिल हैं. माना जा रहा है कि अपराध के अन्वेषण से लेकर कानून व्यवस्था सुदृढ़ करने में इन दरोगाओं का योगदान लिया जाएगा.
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में पुलिस कमिश्नर व्यवस्था (Police Commissioner System) लागू होने का असर दिखने लगा है. राजधानी में कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए दरोगाओं (Sub Inspector) की फौज भेजी जा रही है. इसी क्रम में अयोध्या रेंज के पांचों जिलों के 89 दारोगाओं ट्रांसफर लखनऊ किया गया है. ये सभी लखनऊ कमिश्नरी में रिपोर्ट करेंगे. एडीजी जोन लखनऊ एसएन साबत ने ये आदेश जारी किए हैं.

बता दें इन 89 दरोगाओं में अयोध्या के 19, अंबेडकरनगर के 14, अमेठी के 17, बाराबंकी के 25 और सुल्तानपुर के 14 दारोगा शामिल हैं. माना जा रहा है कि अपराध के अन्वेषण से लेकर कानून व्यवस्था सुदृढ़ करने में इन दरोगाओं का योगदान लिया जाएगा.


मैजिस्ट्रीयल पॉवर के साथ लखनऊ पुलिस का ये है पहला अभियान
बता दें इससे पहले लखनऊ के पहले पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने कहा है कि अब पुलिस (Police) को मजिस्ट्रेटी अधिकार मिल गए हैं. इस नए अधिकार का इस्तेमाल जनता को राहत देने में होगा. अवैध रूप से एसिड (Acid) बेचने वालों, अवैध शराब के लिए स्प्रिट व चाईनीज मांझा बेचने वालों वालों के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा. पुलिस कमिश्नरी बनने से पहले इस तरह के अभियान के लिए पुलिस को मजिस्ट्रेट की जरूरत होती थी.

तैयार कर रहे बेहतरीन टीम
सुजीत पांडे ने कहा कि हम एक बेहतरीन टीम तैयार कर रहे हैं, जो जनता की समस्याओं के निस्तारण के लिए 24 घंटे पूरी ईमानदारी से काम करेगी. सुजीत पांडे ने कहा कि राजधानी में स्मार्ट, सेंसिटिव और प्रोफेशनल पुलिसिंग हमारी प्राथमिकताएं हैं.


24 घंटे जनता को बेहतर सेवाएं देंगेसुजीत पांडे ने कहा कि हम 24 घंटे जनता को बेहतर सेवाएं देंगे. महिलाओ पर अत्याचार को लेकर हम और अधिक सेंसटिव होंगे. छोटी छोटी चीजो को हम प्राथमिकता देंगें. यहां की ट्रैफिक व्यवस्था को गंभीरता से लेंगें. हम व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए समय-समय पर ट्रेनिंग भी देंगे. न्यूज़ 18 से बात करते हुए सुजीत पांडे ने कहा कि कमिश्नरी सिस्टम में पुलिस सिटीजन सेंट्रिक सर्विस देगी. पब्लिक डिलीवरी सिस्टम को मजबूत किया जाएगा. सुजीत पांडेय ने कहा कि हमारी प्राथमिकता है कि जितने भी लोग हमारे पास आएं उनको सुना जाए और राहत दी जाए.

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();