Breaking News

Defence Expo 2020 में साइन हुए 71 MoU, इन हथियारों की ताकत देख दहल जाएगा पाकिस्‍तान

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस समारोह में आज 71 MoU साइन किया गया है. इसके साथ ही 13 प्रोडक्ट की लॉन्चिंग हुए है.
रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO)ने रूसी कंपनी रोसोबोरोन एक्सपोर्ट के साथ एक प्रौद्योगिकी विकास समझौते पर हस्ताक्षर किया है. यह समझौता शुक्रवार को डिफेंस एक्सपो 2020 में हुआ. डीआरडीओ की हाई एनर्जी मटेरियल्स रिसर्च लैबोरेटरी (एचईएमआरएल) ने एडवांस पाइरोटेक्निक इंग्निशन सिस्टम्स के लिए रोसोबोरोन एक्सपोर्ट के साथ समझौता किया है.

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस समारोह में आज 71 MoU साइन किया गया है. इसके साथ ही 13 प्रोडक्ट की लॉन्चिंग हुए है. उन्होंने कहा कि देश में डीआरडीओ द्वारा 23 टीऔटी साइन किया गए है. प्राइवेट सेक्टर्स को डीआरडीओ टेक्नोलॉजी ट्रांसफर करेगा. हम जल्द ही एक्सपोर्टर बनने जा रहे हैं. एचएएल और डीजीसीए के बीच भी डाक्यूमेंट्स एक्सचेंज हुआ है. इससे रीजनल कनेक्टिविटी को बढ़ावा देगा.

एचईएमआरएल के निदेशक के.पी.एस. मूर्ति ने कहा कि इससे एनर्जेटिक मटेरियल्स और पाइरोटेक्निक टेक्नोलोजी में बढ़ोत्तरी मिलेगी. जिससे एडवांस इंग्निशन सिस्टम्स का विकास हो सकेगा. एचईएमआरएल डीआरडीओ की लैबोरेटरी है, जो मिसाइल, रॉकेट और बंदूकों के लिए आवश्यक हाई एनर्जी मटेरियल्स को विकसित करने के लिए काम करती है. उन्होंने कहा कि यह तकनीक आगामी उत्पादों के लिए आर्ट सोलिड रॉकेट मोटर की स्थिति को विकसित करने और डिजाइन करने की सुविधा प्रदान करेगा. (आईएएनएस इनपुट के साथ)

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();