गाजीपुर: कोरोना से खेती-किसानी पर मंडराया संकट - Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Purvanchal News | UP Samachar in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Purvanchal News | UP Samachar in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, Ghazipur News, Purvanchal News, Uttar Pradesh News, UP Breaking News

Breaking News

Post Top Ad

Post Top Ad

गुरुवार, 26 मार्च 2020

गाजीपुर: कोरोना से खेती-किसानी पर मंडराया संकट

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर खेती-किसानी पर भी कोरोना का जबरदस्त असर पड़ा है। क्षेत्र में गेहूं की फसल एक दो सप्ताह बाद पक कर तैयार हो जाएगी लेकिन उसकी कटाई व मड़ाई कैसे होगी? इसका समाधान ढूंढने में किसान लगे हुए हैं। सरकार द्वारा लॉकडाउन किए जाने के बाद कोरोना के भय से सभी लोग अपने घरों में बंद हैं। बाहर निकलने से भी डर लग रहा है। ऐसे में गेहूं की कटाई पर संकट मंडरा रहा है।

इस समय आलू की खोदाई का कार्य लगभग पूरा हो चला है। मसूर, मटर व सरसों आदि की कटाई पूरी हो गई है। चना व गेहूं की फसल पकने वाली है। बड़े कास्तकार तो हार्वेस्टर से गेहूं कटवा लेते हैं लेकिन मध्यम व छोटे किसान मजदूरों के भरोसे रहते हैं। इस बार कोरोना के चलते सभी को अपने घर में रहने को कहा गया है। देवकठियां के किसान नखड़ू सिंह यादव ने बताया कि अगर लॉकडाउन का क्रम और आगे बढ़ा दिया गया तो फिर मुश्किल होगी। गेहूं कटाई व मड़ाई का समय आ जाएगा। अगर समय से यह नहीं हुआ तो किसानों की पूरी कमाई व लागत डूब जाएगी। इससे वे और संकट में फंस जाएंगे। अभोरिक यादव ने बताया कि कोरोना किसानों की कमर तोड़ देगा। मजदूर भी मिलने मुश्किल हैं, ऐसे में गेहूं की कटाई कैसे होगी? यह सवाल किसानों को परेशान कर रहा है। बहुत से ऐसे परिवार हैं जो खुद अपने गेहूं की कटाई व मड़ाई में सक्षम हैं लेकिन इनकी संख्या बहुत कम है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();

Post Top Ad