Breaking News

वाराणसी कैंट: 62 घंटे के सफर के दौरान मजदूर ने तोड़ा दम, रेलवे प्रशासन पर लापरवाही का आरोप

गाजीपुर न्यूज़ टीम, वाराणसी। ट्रेन में सफर के दौरान तबीयत बिगड़ने से शनिवार को एक मजदूर की मौत हो गई। परिवारीजन ने रेलवे प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया। वहीं, रेल अधिकारियों ने बीमारी का हवाला देकर कन्नी काट लिया। बहरहाल, कैंट स्टेशन पर कार्रवाई की औपचारिकता पूरी करने के बाद जीआरपी ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मिली जानकारी के अनुसार मछलीशहर (जौनपुर) निवासी जोखन यादव(45) पुत्र स्व. महाबली यादव बीते 20 मई की शाम 6.58 बजे गाड़ी संख्या- 01803 लोकमान्य तिलक टर्मिनल स्टेशन (मुंबई) से चले थे। कटनी (एमपी) के बाद ट्रेन की रफ्तार धीमी होने लगी। वहीं व्यास नगर स्टेशन पहुचने में 45 घंटे का समय बीत गया। इसके बाद यहां भी सिग्नल मिलने की प्रतीक्षा में ट्रेन को खड़ा कर दिया गया।


परिजनों के अनुसार इस बीच जोखन की हालत बिगड़ गई। 62 घंटे बाद ट्रेन सुबह कैंट स्टेशन शनिवार को पहुंची। परिवारीजन की सूचना पर पहुंची स्वास्थ्य टीम ने जोखन यादव के मृत्यु की पुष्टि की। इंजन से पांचवी बोगी(17226) में सवार मजदूर के शव को बाहर निकाला गया। पंचनामा की कार्रवाई के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी ने बताया कि मृतक हार्ट का पेशेंट था। कुछ दिन पहले ही उसके हार्ट की सर्जरी हुई थी।

व्यास नगर स्टेशन पर हंगामा
ट्रेन की लेटलतीफी से नाराज श्रमिकों ने व्यास नगर स्टेशन पर जमकर हंगामा किया। यहां ट्रेन शुक्रवार की रात्रि 2.35 बजे आई। भूख और प्यास से बेहाल सभी यात्री बेहाल थे। नाराज श्रमिकों ने जमकर हंगामा किया। दबाव बढ़ता देख सुबह 6 बजे ट्रेन को गंतव्य के लिए रवाना किया गया।


कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();