Breaking News

लखनऊ में कोरोना से मुख्य आरक्षी की मौत, अब तक यूपी में सात पुलिसकर्मियों की गई जान

गाजीपुर न्यूज़ टीम, लखनऊ, उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार अपने पैर पसार रहा है। एक बार फिर डीजीपी मुख्यालय (सिग्नेचर बिल्डिंग) में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा मंडरा रहा है। भ्रष्टाचार निवारण संगठन (एसीओ) में तैनात मुख्य आरक्षी इमामुद्दीन खान की मंगलवार सुबह कोरोना से मौत हो गई। वह लखनऊ स्थित किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में भर्ती थे।

मुख्य आरक्षी की मौत के बाद डीजीपी मुख्यालय के टॉवर थ्री में सातवें व आठवें तल पर स्थित भ्रष्टाचार निवारण संगठन (एसीओ) के कार्यालय को सैनिटाइजेशन के लिए 48 घंटों के लिए सील कर दिया गया है। डीजीपी मुख्यालय के अन्य हिस्सों में भी लगातार सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने सभी अधिकारियों व कर्मियों को अपनी सुरक्षा के प्रति पूरी सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। ध्यान रहे, इससे पूर्व इस बिल्डिंग में रेलवे मुख्यालय को सैनिटाइजेशन के लिए सील किया गया था।

डीजीपी के पीआरओ एएसपी अभय नाथ त्रिपाठी ने बताया कि भ्रष्टाचार निवारण संगठन लखनऊ में नियुक्त मुख्य आरक्षी को 29 जून की रात केजीएमयू में भर्ती कराया गया था। सोमवार को ही उनकी टेस्ट रिपोर्ट आई थी, जिसमें वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। मंगलवार सुबह उनकी मृत्यु हो गई। पीआरओ के अनुसार तबीयत खराब होने के कारण मुख्य आरक्षी ने 24 जून को पांच दिनों का अवकाश लिया था और वह 25 जून से कार्यालय नहीं आ रहे थे। पुलिस विभाग में अब तक करीब 550 अधिकारी व कर्मी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। अब तक सात पुलिसकर्मियों की कोरोना से मौत हुई है। हालांकि अब तक 321 से अधिक पुलिसकर्मी कोरोना को मात देकर दूसरों का हौसला बढ़ाया है। 

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();