Breaking News

रक्षाबंधन पर्व पर उत्तर प्रदेश में महिलाओं को फ्री रोडवेज बस सेवा की सौगात

गाजीपुर न्यूज़ टीम, लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने रक्षाबंधन पर्व पर बहनों को निशुल्क रोडवेज बस सेवा की सौगात दी है। रक्षाबंधन पर्व पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों में इस वर्ष भी महिलाओं को निशुल्क बस सेवा का तोहफा दिया है।  प्रदेश के हर जिले से निगम की बसों में महिलाएं मुफ्त यात्रा कर सकेंगी। इसके तहत दो अगस्त कि मध्य रात्रि 12:00 बजे से 3 अगस्त मध्य रात्रि 12:00 बजे तक मुफ्त सेवा का लाभ उठाया जा सकेगा। 

कुल 9,200 बसों का संचालन 
रक्षाबंधन विशेष के रूप में पूरे प्रदेश के सभी बस अड्डों से कुल 9,200 बसों का संचालन होगा। इनमें से 3,200 बसें अतिरिक्त सेवाओं के रूप में संचालित होंगी। इस आशय के आदेश प्रबंध निदेशक डॉ. राजशेखर ने क्षेत्रीय प्रबंधकों, सेवा प्रबंधकों एवं एआरएम को जारी कर दिए हैं। यात्री बढ़ने पर रिजर्व की बसों का इस्तेमाल किया जाएगा।

लखनऊ संभाग चलाएगा 700 बसें
राजधानी लखनऊ समेत पूरे संभाग में सात सौ से अधिक बसों का संचालन होगा। क्षेत्रीय प्रबंधक पल्लव बोस ने बताया कि शहर के चारों बस स्टेशनों से बसें चलाई जाएंगी। रूटवार बस संचालन की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

जितनी सीट उतने ही यात्री एक बस में जा पाएंगे
परिवहन निगम प्रबंधन ने यह भी ताकीद दी है कि सीट से अधिक यात्री बसों में नहीं चलेंगे। यानी जितनी बैठने के लिए सीट होगी उतने ही यात्री बस सेवा से जा सकेंगे। संख्या अधिक होने पर यात्री दूसरी बस का इस्तेमाल करेंगे। बसों में सीट के बगल में खडे़ होकर यानी स्टैंडिंग सफर नहीं किया जाएगा।

रोडवेजकर्मियों की छुट्टियां पहली से निरस्त
बकरीद और रक्षाबंधन के त्योहारों को देखते हुए एमडी ने रोडवेज कर्मियों के अवकाश निरस्त कर दिए हैं। इस दौरान अधिकारियों और कर्मचारियों की किसी भी हालत में अवकाश नहीं दिया जाएगा।

दिक्कत होनें पर यहां करें यात्री शिकायत
मुख्यालय स्तर पर यात्रियों की सुविधा के लिये हेल्पलाइन नं0- 18001802877 जारी किया गया है। व्हाटसएप नं0-9415049606 है। वहीं डायल 149 सेवा 24 घंटे कार्यरत रहेगी। इस पर यात्री अपना सुझाव एवं शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();